आज के इस युग में भारत की बेटियां हर क्षेत्र में अपना गौरव दिखा रही है और भारत में नारियों की स्थिति में काफी सकारात्मक बदलाव भी आया है। अब भारत की नारियां सिर्फ रसोई तक ही सीमित नहीं है वह हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है।

कुछ ऐसा ही उदाहरण आज के समय में पेश आया है राजस्थान के पाली जिले के खोड़ा गांव की बहू नवीना शेखावत हाल ही में मेजर बन गई है। आपको बता दें कि नवीना ने वर्ष 2013 से 2015 तक ऑफिसर ट्रेनिंग ली है और उसके बाद वह भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बन गई।

naveena-shekhawat-major1

अभी हाल ही में वह मेजर के पद पर प्रमोशन लेकर पहुंची है आपको बता दें कि सभी विकट परिस्थितियों मैं रहकर नवीना महिलाओं का गौरव बढा रही है। लेह लद्दाख अंतर्राष्ट्रीय सीमा की रक्षा का भार रवीना के कंधों पर ही है। नवीना बताती है कि वह शुरू से ही आर्मी में जाना चाहती थी उन्होंने जोधपुर के केएन कॉलेज से पढ़ाई की है और उसके बाद डिफेंस में शिक्षा स्नाकोत्तर किया है।

naveena-shekhawat-major2

मेजर बनने से पहले नवीना नक्सल प्रभावित इलाके में 2 साल तक कार्यरत थी इस दौरान उन्होंने नक्सलियों के खिलाफ कई अभियान भी चलाए और उन्हें बखूबी रूप से अंजाम दिया। नवीना मेजर के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय शूटर भी है वह राष्ट्रीय स्तर पर शूटिंग में अपना जलवा दिखा चुकी हैं। वह अपनी इस उपलब्धि को आर्मी में मिले अनुशासन और परिवार से मिले संस्कारो को समर्पित करती है। वह अपने घर में एक आम बहू की तरह ही रहती है और परंपरागत राजपूतानी पहनावा ही पसंद करती हैं लेकिन वह सेना में यूनिफॉर्म पहनती है और हर मोर्चे पर खुद को पूर्ण रूप से साबित करती हैं। हम आशा करते हैं कि और महिलाएं भी उनसे प्रेरणा लेंगे।

Source