औरतों को क्यों अच्छे लगते हैं घर का काम करने वाले मर्द

244

आप जानते है कि परिवार में पति-पत्नी की अपनी अलग अलग ज़िम्मेदारियाँ होती है जिन्हें पूरा करने पर ही संतुलन बना रहता है क्यूँकि महिला और पुरुष एक ही गाड़ी के दो पहिये होते है जिनका संतुलन और समन्वय उनके जीवन की गाड़ी को सही तरीके से आगे बढ़ाता है। पहले के समय में परिवार के आदमियों के लिए घर से बाहर जाकर काम करना जरुरी होता था और घर की साफ़ सफाई से लेकर रसोई तक का सारा काम महिलाओं के ज़िम्मे था लेकिन आज तस्वीर थोड़ी बदली है।

आज महिला और पुरुष दोनों ही बाहर और घर का काम संभालने में सक्षम है। लेकिन आपने महसूस किया होगा कि जब घर के कामों में दोनों पार्टनर्स की भागीदारी रहती है तो घर का माहौल काफी खुशनुमा रहता है और इसका एक कारण ये है कि घर के काम में हाथ बंटाने वाले साथी, महिलाओं को बहुत अच्छे लगते है और इस बात की पुष्टि तो अब रिसर्च से भी हो गयी है कि जो मर्द घर के काम करना जानते है और ख़ुशी से अपनी पत्नी की मदद करते है, उन्हें महिलाएं काफी पसंद करती हैं। लेकिन आप ये सोचते होंगे न कि इसके पीछे कारण क्या है? तो चलिए, आज बताते है आपको कि औरतों को आख़िर क्यों पसंद आते है घर का काम करने वाले मर्द –

बराबरी का अहसास –
अकेले घर का ढेर सारा काम करते करते कई बार महिलाएं भूलवश अपने काम को छोटा समझने लगती है जिससे उनमें निराशा घर करने लगती है। ऐसे में अगर उनका पार्टनर घर के कामों में उनका हाथ बटांता है तो उन्हें न केवल अपने काम का महत्व पता चलता है बल्कि बराबरी का अहसास भी होता है जो उन्हें ख़ुशी देता है।

साथ समय बिताने का अवसर –
अक्सर अपने काम में व्यस्तता के चलते दोनों पार्टनर्स अपने अपने काम में जुटे रहते है और उन्हें आपस में बात करने का समय भी नहीं मिल पाता। लेकिन जब दोनों साथी मिल कर घर के काम निपटाते है तो उन्हें साथ वक्त बिताने का थोड़ा और अवसर मिल जाता है जिससे रिश्ते में मजबूती आती है।

ज़िम्मेदारियों की साझेदारी –
आपकी जिम्मेदारियों को अगर कोई साझा कर ले तो अच्छा महसूस होना लाज़मी है। ऐसे में जब आदमी घर के काम में थोड़ी भी साझेदारी दिखाते है तो महिलाओं को बोझिल अहसास होने की बजाए नयापन महसूस होता है जो उन्हें और बेहतर तरीके से काम में जुटने के लिए प्रेरित करता है।

मानसिक सहयोग की प्राप्ति –
अक्सर घर के काम निपटाते हुए महिलाओं में अकेलेपन और निराशा जैसे भाव बढ़ते जाते है जो गहरे तनाव का रूप भी ले लेते है जिसके कारण उनके स्वभाव में भी अनचाहा बदलाव आ जाता है। ऐसे में अगर उनके साथी द्वारा थोड़ा सहयोग मिलता है तो उनके मन से थकान और तनाव जैसे विचार निकल जाते है और मानसिक सहयोग की इस स्थिति में महिलाएं पहले की तुलना में खुद को ज़्यादा मजबूत महसूस करने लगती है।

पसंद नापसंद जानने में रूचि बढ़ना –
रसोई में काम करना और लज़ीज़ खाना बनाना महिलाओं की दिनचर्या का अभिन्न अंग होता है लेकिन नियमित रूप से एक ही काम लगातार करते हुए उबाऊ महसूस करना भी स्वाभाविक है। ऐसे में अगर उनके पार्टनर रसोई में उनका हाथ बटांते है तो अकेले खाना बनाने की नीरसता भी चली जाती है और दोनों पार्टनर्स एक दूसरे के स्वाद को जान भी पाते है और एक दूसरे के पसंद का खाना बनाकर रिश्ते में नयापन भी भर लेते हैं।

काम की सराहना –
अक्सर महिलाओं को इस स्थिति का सामना करना पड़ता है कि उनके द्वारा किया गया काम कम महत्व का है और पुरुषों द्वारा किये गए कामों का महत्व काफी ज़्यादा है। ऐसे में जब मर्द घर के काम में अपनी साझेदारी देते हैं तो उन्हें महिलाओं की मेहनत का अंदाज़ा भी हो जाता है जिसके चलते वो तारीफ़ भी किया करते है और ये तो सभी जानते है कि किये गए काम की तारीफ़ महिलाओं में कितनी सकारात्मक ऊर्जा भर देती है।

शोध ने ये सिद्ध कर दिया है और अब आपने ये जान भी लिया है कि क्यों पसंद आते है महिलाओं को ऐसे मर्द जो घर के काम में उनका हाथ बटांते है। तो बस, देर किस बात की !! आप भी इन सारे पहलूओं पर गौर फरमाइए और अपने रिश्ते में नयी ताज़गी और मुस्कुराहट भरने के लिए तैयार हो जाइये।

“महिलाओं से जुड़े आश्चर्यचकित कर देने वाले 25 रोचक तथ्य”
“ये हैं वो देश जहाँ महिलाऐं ज्यादा हैं पुरुष कम”
“दुनिया की 10 सबसे खतरनाक महिला गैंगस्टर्स”

Add a comment