चॉकलेट से होने वाले फायदे और नुकसान

337

चॉकलेट का तो नाम ही काफी होता है मुँह में स्वाद घोल देने के लिए, उसकी मिठास और खुश कर देने वाले स्वाद के तो क्या कहने। अवसर कोई भी हो, जन्मदिन हो या परीक्षा पास कर लेने का जश्न, बच्चों और युवाओं के लिए चॉकलेट किसी मिठाई से कम नहीं होती और आज कल बाज़ार में बहुत से तरीकों की चॉकलेट मिलने लगी है जिसने इसके चलन को और तेज़ी से बढ़ा दिया है। आप बहुत खुश हो या फिर आपका मन उदास हो, आप चॉकलेट का ही सहारा लेते है न। लेकिन क्या आप ये जानते है कि आपको बेहद पसंद ये चॉकलेट किस तरह आपके शरीर को नुकसान पहुँचाती है और इस चॉकलेट का कौनसा रूप है जो आपकी सेहत को दुरुस्त भी करता है। तो चलिए, आज आपको बताते है चॉकलेट से जुड़े दोनों पहलू।

चॉकलेट थिओब्रोमा कोको बीजों से तैयार होने वाली एक तरह की मिठाई होती है जो भूरे रंग की होती है लेकिन कुछ मिल्क चॉकलेट्स का रंग सफ़ेद भी होता है। अगर आप चॉकलेट खाने के शौकीन है तो डार्क चॉकलेट को अपनाइये जो आपकी सेहत को बेहतर बनाने में इस तरह मदद करती है-

दिमाग को स्वस्थ रखे डार्क चॉकलेट –
डार्क चॉकलेट मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में सुधार लाती है और सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती है। एक शोध के अनुसार, डार्क चॉकलेट इंसान के मन से दुःख और अवसाद की भावनाओं को कम करने में सहायक होती है।

दिल का रखे ख़याल-
चॉकलेट का सेवन दिल की बीमारियों और दिल का दौरा पड़ने जैसे खतरों को कम करती है। डार्क चॉकेलट में मौजूद पोटैशियम और कॉपर दिल का दौरा पड़ने की स्थिति में दिल की क्षमता को बनाये रखते है। ये रक्तचाप को भी कम करती है और इसे खाने से धमनियों का कठोर होना भी रोका जा सकता है। ऑस्ट्रेलिया यूनिवर्सिटी के शोध के अनुसार, रोज़ाना 100 ग्राम चॉकलेट के सेवन से दिल का दौरा कम करने में काफी मदद मिलती है।

एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर डार्क चॉकलेट –
एंटी-ऑक्सीडेंट्स भोजन से प्राप्त होने वाले ऐसे विटामिन्स, मिनरल और कुछ रसायन होते है जो दिल की बीमारियों, कैंसर के कुछ प्रकारों और बुढ़ापे सम्बन्धी बीमारियों को रोकने में सहायक होते है। डार्क चॉकलेट और कोको में सबसे ज़्यादा प्रकार के एंटी ऑक्सीडेंट्स पाए जाते है। ये भी कैफीन की तरह उत्तेजक होती है लेकिन इसमें घुलनशील फाइबर और मैग्नीशियम, कॉपर, आयरन और मैग्नीज़ भी पाए जाते है।

महिलाओं की सेहत के लिए लाभकारी –
डार्क चॉकलेट मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द में राहत पहुँचाती है साथ ही महिलाओं में बढ़ते तनाव को कम करने में भी सहायक है। गर्भवती महिलाओं द्वारा चॉकलेट का सेवन करने से शिशु का विकास अच्छे से होता है।

त्वचा में निखार लाये –
एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर डार्क चॉकलेट त्वचा पर दिखने वाले बढ़ती उम्र के लक्षणों और झुर्रियों को कम करती है और त्वचा की दमक बढ़ाती है साथ ही डार्क चॉकलेट खाने से बालों का झड़ना भी कम होता है।

इसके अलावा भी डार्क चॉकलेट के कई और फायदे भी हैं जैसे सूरज की किरणों के हानिकारक प्रभाव से बचाना, खांसी और डायरिया में आराम पहुँचाना, शरीर में खून की मात्रा बढ़ाना, आँतों के कैंसर से बचाना और सेक्स क्षमता को बेहतर बनाना।

इतने सारे फायदे तो जान लिए है आपने डार्क चॉकलेट के लेकिन ये ध्यान रखना भी जरुरी है कि ये सभी फायदे आपको असली डार्क चॉकलेट से मिल सकते है जो डार्क होने के साथ साथ स्वाद में कड़वी भी होती है क्यूँकि उसमे कोको की मात्रा ज़्यादा होती है।

आइए अब आपको बताते है सामान्य चॉकलेट से शरीर को होने वाले नुकसान –

कैफीन की मात्रा –
सामान्य चॉकलेट में कैफीन जैसे रासायनिक तत्व पाए जाते है जिनके प्रभाव से दिमाग को इसकी लत लग जाती है और इसके नुकसान जानते हुए भी इसे बार बार खाने का मन करता है और ये आदत ख़ास कर बच्चों के लिए बेहद हानिकारक साबित होती है।

मस्तिष्क की कार्यक्षमता प्रभावित –
चॉकलेट के सेवन से दिमाग की कार्यक्षमता प्रभावित होती है और इसका अधिक सेवन सिर दर्द रहने का कारण भी बनता है।

दिल को ख़तरा –
चॉकलेट के सेवन से धमनियों का कड़ा होना और रक्तचाप सम्बन्धी समस्याएं भी हो सकती है।

मधुमेह की सम्भावना –
चॉकलेट में मिलायी जाने वाली कृत्रिम शर्करा जहाँ शरीर को नुकसान पहुँचाती है वहीँ ग्लूकोस की ज़्यादा मात्रा शरीर में जाने से मधुमेह का ख़तरा भी बढ़ा देती है।

आप जानते है कि कोई भी चीज़ अगर संतुलन में खायी जाए तो नुकसान नहीं करती। तो क्यों न आप चॉकलेट के मामले में भी ऐसा ही सोचे। सामान्य चॉकलेट के सेवन को कम कर ले और डार्क चॉकलेट को संतुलित मात्रा में खाना शुरू करे। ऐसा करके आप ना केवल तनाव और निराशा जैसी मनोदशा से बचे रहेंगे बल्कि आपके ख़ास अवसरों में चॉकलेट आपकी साथी भी बनी रहेगी। तो बस, आज ही से चॉकलेट और आपकी दोस्ती में संतुलन बनाइये और स्वस्थ तन मन के साथ आगे बढ़ते जाइये।

“जानिए दिन में सोना क्यों होता है नुकसानदायक”
“रात में दही खाना हो सकता है नुकसानदायक, जानिए क्या है कारण”
“बीच में जिम छोड़ने के नुकसान”

Add a comment