क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

0
474

कुछ लोग स्वाद के चक्कर में मांस खाते हैं तो कुछ लोग शौक पूरा करने के लिए ऐसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं जो जानवरों के मांस या खाल से बनी हो ! लेकिन हम अपने शौक पूरे करने के चक्कर में कितना बड़ा नुक्सान करते हैं इसका हमे अंदाजा भी नहीं ! हमारे शौक के चक्कर में बेचारे बेजुबान जानवरों को अपनी बलि देनी पड़ती है ! क्या कभी किसी ने सोचा है इंसान के शौक पूरा करने के बदले जो बर्ताव जानवरों के साथ होता है अगर ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

आइये आज आपको कुछ ऐसी ही बातों से रूबरू कराते हैं जिन्हें जानकर आप भी कहेंगे शाकाहारी होना ही मानवता है और जानवरों के मांस और खाल से बनी चीजों को ना खरीदना जानवरों के प्रति मानवता है !

1. अपना स्वाद बढ़ने के लिए इंसान मांस खाते हैं लेकिन जानवरों का दर्द महसूस नहीं करते ! अगर ऐसा सलूक इंसानों के साथ किया जाये तो ?

damage-of-being-carnivorous क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

2. शरीर को गर्म रखने के लिए पशुओं की खाल से बनी पोशाकें पुराने समय से चलन में हैं और आज ये फैशन बन गया है लेकिन क्या कभी सोचा है हमारे फैशन की कीमत उन बेजुबान जानवरों को अपनी जान गवां कर चुकानी पड़ती है !

damage-of-being-carnivorous1 क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

3. शायद आपको पता ना हो लेकिन लिपिस्टिक, लिपबाम या क्रीम को टेस्ट करने के लिए चूहों का इस्तेमाल होता है इसके अलावा काजल की टेस्टिंग में खरगोशों को अंधा होना पड़ता है ! शौक हमारा कुर्बानी उन बेजुबान जानवरों की, क्या ये जायज है ?

damage-of-being-carnivorous2 क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

4. मीट उद्योग के लिए काम आने वाले जानवरों को एंटीबायोटिक खिलाये जाते हैं साथ ही उनके तेजी से शारीरिक विकास करने के लिए उन पर कई तरह के रसायनों का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन क्या कभी किसी इस दौर से गुजरने वाले उन जानवरों की पीड़ा को समझा है ?

damage-of-being-carnivorous3 क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

5. लोगों को स्टाइलिश बैग, पर्स या बेल्ट का शौक होता है लेकिन उनके इस शौक को पूरा करने के लिए कीमत मगरमच्छों, सांपों, गायों और भैंसों को अपनी जान देकर चुकानी पड़ती है, क्या शौक आज के समय में इतनी बड़ी चीज़ है ?

damage-of-being-carnivorous4 क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

6. कछुओं के सख्त कवर को कई जगह इस्तेमाल किया जाता है, कुदरत द्वारा अपनी रक्षा करने के लिए दिए गए कवच के कारण ही कछुए आज इंसानों का शिकार बन रहे हैं और अपनी ही सुरक्षा नहीं कर पा रहे !

damage-of-being-carnivorous5 क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

7. मछली और सील का शिकार करने के लिए कई लोग ध्रुवों के बर्फीले इलाके में जाते हैं और वहां के ध्रुवीय भालुओं का भी शिकार करने से नहीं चूकते ऐसे में ध्रुवीय भालुओं की संख्या भी दिन-ब-दिन घटती जा रही है !

damage-of-being-carnivorous6 क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

8. समुंद्र में शान से गोता लगाती अपनी जिंदगी जीने वाली व्हेल मछलियों को भी इंसान नहीं छोड़ते उन्हें भी पकड़कर कई उद्योगों में अपने फायदे के लिए काम में लिया जाता है !

damage-of-being-carnivorous7 क्या कभी सोचा है ऐसा बर्ताव इंसानों के साथ हो तो ?

Source

शेयर करें
पिछला लेखदुनिया की सबसे अमीर सेलेब्रिटीज़, जानिए किसके पास है कितनी दौलत
अगला लेखविश्व के सबसे खतरनाक झूले

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment