ध्यान से मिलते हैं ये अद्भुत फायदे

165

हम सभी चाहते हैं कि हमारे शरीर का हर एक अंग सुचारु रूप से कार्य करता रहे ताकि हम स्वस्थ बने रहे और हमारे मन में आने वाले विचार भी सकारात्मक हो, जो हमें अंदरूनी शक्ति प्रदान करे और हमारे तन- मन को स्वस्थ रखने में सहायक हो। लेकिन आजकल की जीवनशैली में न शरीर को उचित पोषण मिल पाता है, न ही मन को अच्छे विचार और इसी का परिणाम होता है आये दिन नयी नयी शारीरिक बीमारियों से सामना होना और मन में रोज़ नए नए विकारों का प्रवेश होना।

ऐसे में जरुरत महसूस होती है ऐसी किसी विधा या तरीके की, जो न केवल हमारे शरीर को ऊर्जा दे बल्कि मन की भी देखभाल कर सके। ऐसी ही एक महान विधा का नाम है ध्यान। जैसे शरीर के लिए भोजन की आवश्यकता होती है, वैसे ही सम्पूर्ण व्यक्तित्व के संतुलन के लिए ध्यान अति आवश्यक है।

ध्यान की ये विधा हमारी प्राचीन धरोहर है, जिसे पूरे विश्व में न केवल सराहा जा रहा है बल्कि अपनाया भी जा रहा है। इससे होने वाले फायदे अद्भुत होते है जो आपके सम्पूर्ण व्यक्तित्व में निखार लाते हैं। तो चलिए, आज आपको बताते है ध्यान से मिलने वाले फायदों के बारे में –

मस्तिष्क पर पड़ने वाले प्रभाव –
ध्यान करने से आपके दिमाग की क्षमता बढ़ती है और उसका विस्तार भी होता है। अगर 8 सप्ताह तक लगातार ध्यान किया जाए तो दिमाग के कुछ हिस्सों का आकार बढ़ने लगता है जिससे आपकी याददाश्त बढ़ती है और अपने दिमाग को कंट्रोल कर पाने की क्षमता का भी विकास होता है।

तनाव से मुक्ति –
चिंता,तनाव और निराशा जैसी भावनाएं आज हर व्यक्ति के स्वभाव का अभिन्न अंग बन गयी हैं। अध्ययन बताते हैं कि ध्यान करने से तनाव को दूर करने में मदद मिलती है और तनाव से शरीर और मन पर पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों को भी कम किया जा सकता है, साथ ही बेचैनी के लक्षणों में भी कमी लायी जा सकती है।

बुरी आदतों से छुटकारा दिलाने में मददगार –
ध्यान हमारे दिमाग के उस भाग के विकास को बढ़ावा देता है जो हमारी इच्छा शक्ति को नियंत्रित करता है। जिसके कारण व्यक्ति अपनी बुरी आदतों जैसे नशे का सेवन करना आदि से खुद को बाहर निकाल सकता है।

एकाग्रता बढ़ती है –
2010 में हुए एक अध्ययन के अनुसार, ध्यान करने से एकाग्रता में वृद्धि होती है और किसी भी काम को करते समय उस पर पूरा ध्यान केंद्रित किया जा सकता है, साथ ही काम के दौरान आने वाले बारीक से बारीक अंतर को भी आसानी से पहचाना जा सकता है।

शरीर को बनाता है सेहतमंद –
रिसर्च बताते हैं कि ध्यान करने से खून में सी -रिएक्टिव प्रोटीन की मात्रा कम हो जाती है। ये प्रोटीन दिल की बीमारियों से सम्बंधित होता है। 3 महीने ध्यान करने से हाई ब्लड प्रेशर को कम किया जा सकता है। ध्यान करने से शरीर में एंटी बॉडीज का निर्माण ज़्यादा होने लगता है जो शरीर पर आक्रमण करने वाली बीमारियों से सुरक्षा करती हैं और प्रतिरक्षा तंत्र को मज़बूत बनाती है साथ ही ध्यान हार्मोनल असंतुलन को संयमित करता है जिसका प्रभाव त्वचा पर निखार के रूप में देखा जा सकता है।

मन की ख़ुशी में इज़ाफा होता है –
तनाव,चिंता, कुंठा और बेचैनी जैसी मानसिक स्थितियों के इस दौर में ध्यान करने से आपको मन में प्रसन्नता का अनुभव होता है। अगर नियमित रूप से ध्यान किया जाए तो मन में सकारात्मक विचार आना शुरू हो जाता है और सभी नकारत्मक विचार धीरे धीरे समाप्त होते चले जाते हैं जिससे मन में स्थिरता और शान्ति महसूस होने के कारण आनंद की स्थिति बनी रहती है।

ध्यान करने के लाभ अनगिनत हैं, ये कहा जा सकता है कि जितने विकार हमारे तन और मन में मौजूद हैं, उन सब का हल ध्यान में ढूंढा जा सकता है। रोज़ाना सुबह की ताज़ी हवा में 10 -15 मिनट ध्यान को देकर आप अपने जीवन का हर दिन बेहतर बना सकते हैं और स्वस्थ तन मन के अपने अरमान को बड़ी सरलता से प्राप्त भी कर सकते हैं। तो बस! देर किस बात की, आज रात को जब अगले दिन के लिए अलार्म लगाए, तो 15 मिनट जोड़कर लगाए, क्यूँकि अगले दिन की शुरुआत में आप ध्यान की शुरुआत भी तो करने वाले हैं।

“मेडिटेशन के पीछे छुपे हैं वैज्ञानिक कारण, जानिए क्या”
“कैसे डालें सुबह जल्दी उठने की आदत”
“ये अच्छी आदतें बदल सकती है आपका भविष्य”

Add a comment