क्या आप जानते हैं कि रेलवे ट्रैक पर गिट्टियां क्यों डाली जाती है

0
9664

हम सभी ने अपने जीवन में रेल और रेलवे ट्रैक तो जरूर देखे होंगे। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की रेल ट्रैक् पर गिट्टियां क्यों डाली जाती है और क्या कहीं इसके पीछे कोई ऐसा कारण तो नहीं जो आप आज तक जानते ही ना हो। तो चलिए आज हम आपको विस्तारपूर्वक बताते हैं कि रेलवे ट्रैक पर गिट्टियां क्यों डाली जाती है।

वैसे तो गिट्टियां बिछाने का उद्देश्य यह होता है की पटरियों के बीच में घर्षण ना हो क्योंकि रेल काफी भारी भरकम होती है और जब वह चलती है तो इससे बहुत ज्यादा घर्षण होता है। उसको कम करने के लिए गिट्टियां बिछाई जाती है।

गौर देने वाली बात यह है कि भारत में शायद ही कोई ऐसा रेलवे ट्रैक हो जहां गिट्टी ना डाली जाती हों इन विशेष प्रकार की गिट्टियों को बलास्ट कहा जाता है।

आपने एक बात और गौर फरमाएं होगी की रेल की पटरियों के बीच में लकड़ियों के पट्टे बिछाए जाते हैं। उन लकड़ियों के पट्टों को इसलिए बिछाया जाता है ताकि गिट्टियां समान स्तर पर बिछाई जा सके। जब लकड़ी के पट्टे बिछ जाते हैं उसके बाद इनके बीच में गिट्टियां भर दी जाती हैं। जिनकी वजह से रेल की पट्टियां भी अडिग रहती हैं और उनमें घर्षण नहीं होता। यह गिट्टियां काफी नुकीले पत्थर की होती है इनको बिछाने की वजह से कितनी भी भारी भरकम रेल इन पटरियों पर से गुजर लेकिन इन पार्टियों का संतुलन बिगड़ता नहीं है और पानी पड़ने से भी यह बहती नहीं है।

गिट्टियों को बिछाने का एक अहम् कारण यह भी है कि यह ट्रेन से उत्पन्न होने वाली ध्वनि को भी कम करती है।

गिट्टियों को इसलिए भी बिछाया जाता है ताकि रेल ट्रैक के इर्द-गिर्द पेड़-पौधे ना उगें।

यह तो थी गिट्टियों से जुड़ी बातें लेकिन आज हम आपको यह और कहना चाहेंगे कि कभी भी रेलवे क्रॉसिंग को पटरियों से क्रॉस ना करें क्योंकि इससे अब तक कई लोगों की जानें जा चुकी है हमेशा फाटक से ही रेलवे क्रासिंग को पार करें।

“आपने भारतीय रेलवे से जुडी ये दिलचस्प जानकारियां पहले कभी नहीं सुनी होंगी”
“रेल की पटरियों के इर्द-गिर्द पत्थर क्यों पड़े होते हैं”
“भारत के सबसे गंदे रेलवे स्टेशन जिन्हें स्वच्छ होने में लगेगा काफी समय”
“चीन में अब हवा में चलेंगी रेलगाड़ी जानिए कैसे”
“दुनिया की सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन”

Add a comment