जानिए क्या है GST और क्या हैं इसके नुकसान और फायदे

858

आज जीएसटी को लेकर पूरे देश भर में चर्चा हो रही है और जीएसटी 1 जुलाई से लागू होना है ऐसे में सभी के मन में कई सवाल हैं की आखिर ये जीएसटी क्या है और क्या ये आम जनता के लिए मुनाफे का सौदा होगा या इससे घरेलु बजट पर और भार बढ़ जायेगा ? आइये आज आपको विस्तार पूर्वक समझाते हैं आखिर जीएसटी क्या है और क्या होंगे इसके फायदे और नुकसान !

फिलहाल किसी भी प्रोडक्ट के बनने से लेकर ग्राहकों तक पहुँचने तक उसकी कीमत कई गुना बढ़ जाती है क्योंकि उस पर बिक्री के समय तक कई तरह के टैक्स लागू होते हैं जिससे सामान की कीमत काफी ज्यादा हो जाती है ! जब कोई सामान फक्ट्री में बनता है तो वहां से निकलते ही उस पर एक्साइज ड्यूटी लगती है इसके बाद जब वो सामान एक राज्य से दूसरे राज्य में पहुँचता है तो उस पर एंट्री टैक्स लागू होता है इसके बाद राज्य में पहुँचने के बाद उस पर वैट यानी सेल्स टैक्स भी लगाया जाता है जो हर राज्य का अपना अलग टैक्स होता है ! इसके अलावा कई सामानों के लिए परचेज टैक्स भी देना होता है ! अगर बात अलग अलग सेवाओं की करें जैसे एंटरटेनमेंट, रेस्टॉरेंट में खाना, मोबाइल बिल या क्रेडिट कार्ड का बिल आदि पर 14.5 फीसदी तक टैक्स लागू होता है !

किसी किसी प्रोडक्ट पर तो 50% तक टैक्स लग जाता है लेकिन अब जीएसटी यानि गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स लागू होने के बाद सभी अलग अलग तरह के टैक्स से छुटकारा मिल जायेगा और प्रोडक्ट्स पर लगने वाले भारी भरकम टैक्स घटकर 12 से 16 प्रतिशत तक रहने की उम्मीद है ! फिलहाल प्रोडक्ट्स पर वैट, एक्साइज और सर्विस टैक्स सहित अलग-अलग 18 टैक्स लगते हैं। लेकिन जीएसटी आने के बाद ही हर सामान और हर सेवा पर सिर्फ एक टैक्स लगेगा और वो है जीएसटी यानी पूरे देश में एक सामान की एक ही कीमत होगी और सभी लोगों को एक सामान पर एक जैसा ही टैक्स चुकाना होगा !

जीएसटी लागू होने के फायदे

  • सरकार के मुताबिक फिलहाल सामानों पर औसतन 24 फीसदी टैक्स लगता है लेकिन जीएसटी लागू होने का बाद ये टैक्स घटकर 17-18 फीसदी तक रह जाएगा जो आम जनता की जेब के लिए काफी फायदेमंद होगा !
  • छोटी कारें खरीदना सस्ता हो जायेगा क्योंकि फिलहाल छोटी गाड़ियों को खरीदने पर करीब 30 से 44 फीसदी तक टैक्स देना होता है लेकिन लेकिन जीएसटी के बाद ये टैक्स 18 फीसदी तक रह जाएगा !
  • रेस्टॉरेंट में खाना खाना भी सस्ता होगा क्योंकि फिलहाल रेस्टॉरेंट में वैट और सर्विस टैक्स दोनों लागू होते हैं जीएसटी लागू होने के बाद रेस्टॉरेंट के बिल पर सिर्फ एक ही टैक्स देना होगा !
  • घर खरीदना भी सस्ता होगा क्योंकि इन पर भी वैट और सर्विस टैक्स दोनों लागते हैं लेकिन जीएसटी के बाद यहाँ भी सिर्फ एक ही टैक्स देना होगा !
  • एयरकंडीशन, पंखे, माइक्रोवेव ओवन, फ्रीज, वाशिंग मशीन जैसे कंज्यूमर प्रोडक्ट्स भी सस्ते होने की उम्मीद है क्योंकि फिलहाल इन पर 12.5 फीसदी एक्साइज ड्यूटी और 14.5 फीसदी तक वैट लागू होता है लेकिन जीएसटी के तहत इन पर सिर्फ एक टैक्स देना होगा जो घटकर सिर्फ 17-18 फीसदी रह जायेगा !
  • जीएसटी लागू होने के बाद सबसे बड़ा फायदा कंज्यूमर के अलावा इंडस्ट्रीज को होगा क्योंकि उन्हें अलग अलग तरह के 18 टैक्स नहीं देने होंगे और एक टैक्स लागू होने से टैक्स भरने की प्रक्रिया भी काफी आसान हो जाएगी !

जीएसटी लागू होने के नुकसान

  • जहाँ एक और बड़े स्तर पर जीएसटी के फायदे हैं तो कही इसके नुकसान भी हैं क्योंकि जिन सामान और सेवाओं पर फिलहाल टैक्स नहीं लागू होता या बहुत कम टैक्स देना होता है उन पर भी टैक्स लगेगा और वो महंगी हो जाएँगी जैसे चाय, कॉफी, कई डब्बा बंद फूड प्रोडक्ट आदि पर अभी कोई टैक्स नहीं लगता या बहुत कम लगता है लेकिन जीएसटी के बाद ये सामान महंगे हो सकते हैं!
  • जीएसटी लागू होने के बाद सामानों पर न्यूनतम 12 फीसदी टैक्स लगेगा ऐसे में कुछ सामानों पर सिर्फ 4-6 फीसदी तक टैक्स देना होता है वहां जीएसटी के बाद 12 फीसदी टैक्स लागू होगा जिससे ये प्रोडक्ट्स महंगे हो जायेंगे !
  • ज्वैलरी की बात करें तो जीएसटी के बाद ये भी महंगी हो जाएगी क्योंकि इन पर फिलहाल करीब 3 फीसदी टैक्स लगता है !
  • रेडिमेड गारमेंट पर भी फिलहाल सिर्फ 4-5 फीसदी का स्टेट वैट लागू होता है लेकिन जीएसटी के बाद ये महंगे हो जायेंगे !
  • सेवाओं की बात करें तो मोबाइल फोन का बिल, क्रेडिट कार्ड का बिल या फिर ऐसी दूसरी सेवाओं पर फिलहाल अधिकतम 14.5 फीसदी सर्विस टैक्स लागू होता है लेकिन जीएसटी के तहत इन पर लगने वाला टैक्स बढ़कर 18 फीसदी तक हो सकता है जो लोगों को थोड़ा भारी पड़ सकता है !
  • जहाँ कंपनियां अपने प्रोडक्ट्स पर भारी भरकम डिस्काउंट देती हैं उसका भी लोगों को नुकसान होगा क्योंकि फिलहाल ग्राहकों को डिस्काउंट के बाद लागू होने वाली कीमत पर टैक्स देना होता है लेकिन जीएसटी के बाद ये टैक्स डिस्काउंट की कीमत पर नहीं बल्कि सामान की एमआरपी पर लगेगा जो ग्राहकों के लिए थोड़ी मायूसी वाली बात होगी !

“फर्जी हाऊस रेंट स्लिप लगाकर टैक्स बचाने वालों के लिए बुरी खबर”
“जानिए SIP क्या है और क्या हैं इसके फायदे नुकसान”
“जानिए डीमैट अकाउंट क्या होता है और कैसे खोले डीमैट अकाउंट”

Add a comment