जोड़ों में दर्द होने पर कभी ना करें इन चीजों का सेवन

156

जोड़ों का दर्द आज एक आम समस्या बन गयी है। उम्र बढ़ने के साथ साथ इसकी शिकायत भी बढ़ने लगती है। इसके अलावा लगातार बैठे रहने, सफर करने से भी घुटने अकड़ जाते हैं या उनमें दर्द होने लगता है। जोड़ों का दर्द घुटनों, कोहनियों, गर्दन और बाजुओं जैसी जगहों पर हो सकता है। जोड़ों में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे हड्डियों में खनिज की कमी होना, कार्टिलेज का घिस जाना, अर्थराइटिस या खून का कैंसर होना।

जोड़ों के इस दर्द में चलने-फिरने, खड़े होने, हिलने-डुलने और आराम करते समय भी दर्द होता है और सुबह के समय जोड़ों में कड़ापन भी आ जाता है, कभी कभी जोड़ों में मरोड़ आने से भी दर्द होने लगता है। इसके उपचार के लिए अपनी सेहत का ध्यान रखना और घरेलु उपचार किया जाना संभव है लेकिन ये ध्यान रखना भी अति आवश्यक है कि जोड़ों के दर्द की शिकायत होने पर किन चीज़ों का सेवन करने से बचना चाहिए, ताकि ये दर्द और अधिक न बढ़ सके। तो आइये, आज आपको बताते हैं कि जोड़ों के दर्द में किन चीज़ों का सेवन नहीं करना चाहिए –

सोडे का सेवन न करें –
अगर आप जोड़ों के दर्द से परेशान हैं तो सोडे का सेवन बिल्कुल न करें। साथ ही दिल की बीमारी और डायबिटीज होने पर भी सोडे के सेवन से बचे, क्योंकि इसमें शर्करा की काफी मात्रा पायी जाती है जिससे शरीर में साइटोकिन्स का स्राव होने से ये दर्द और बढ़ जाता है।

टमाटर ना खाएं –
आपकी पसंदीदा सब्ज़ियों की ग्रेवी भले ही टमाटर के बिना अधूरी रहती हो लेकिन जोड़ों के दर्द की स्थिति में आपको टमाटर का सेवन करने से खुद को रोकना होगा क्योंकि टमाटर खाने से यूरिक एसिड ज़्यादा बनता है जिससे जोड़ों में दर्द और सूजन बढ़ती जाती है। अर्थराइटिस या गठिया एक जोड़ों की ही बीमारी है जो शरीर में यूरिक एसिड के जमा होने से होती है।

ओमेगा-6 फैटी एसिड्स के सेवन से बचें –
अंडे की जर्दी, मीट, तला भोजन, कॉर्न और सोयाबीन जैसे पदार्थों में ओमेगा-6 फैटी एसिड पाया जाता है जो जोड़ों के दर्द को बढ़ा सकता है इसलिए इन सभी चीज़ों का सेवन करने से बचें।

आर्टिफिशल शुगर से रहें दूर –
आर्टिफिशल शुगर का सेवन करने से आपका वज़न काफी बढ़ जाता है जिससे आपके जोड़ों पर दबाव ज़्यादा पड़ता है और दर्द बढ़ने लगता है।

डेयरी प्रोडक्ट का सेवन न करें –
डेयरी प्रोडक्ट्स जैसी दूध, पनीर और सोया का ज़्यादा सेवन करने से शरीर में प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है जिससे जोड़ों में दर्द की समस्या बढ़ जाती है और सूजन भी आने लगती है।

अंडे का सेवन भी बढ़ा सकता है दर्द –
सप्ताह में एक बार अंडे का सेवन भले ही आप करते हो लेकिन ज़्यादा सेवन करने की स्थिति में जोड़ों का दर्द बढ़ सकता है, साथ ही मांसाहार खाने की स्थिति में शैल फिश और प्रोसेस्ड मीट खाने से भी जोड़ों का दर्द बढ़ सकता है।

वेजिटेबल ऑयल से करें परहेज़ –
वेजिटेबल ऑयल में बना खाना आपके जोड़ों के दर्द को बढ़ा सकता है इसलिए इसका सेवन करने की बजाये आप सरसों के तेल में खाना बनाये क्योंकि सरसों के तेल में एसिड की मात्रा कम होती है इसलिए ये तेल दर्द को कम करने में भी मददगार साबित होता है।

ऐल्कोहल से दूर रहें –
ऐल्कोहल में यूरिक एसिड की मात्रा ज़्यादा पायी जाती है जो आपके जोड़ों के दर्द को बढ़ा सकता है।

रिफाइंड नमक का सेवन न करें –
रिफाइंड नमक में सोडियम और फॉस्फोरस की मात्रा अधिक पायी जाती है जो शरीर में फैटी एसिड्स की मात्रा बढ़ा देते हैं जिससे जोड़ों का दर्द भी बढ़ने लगता है।

जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए आप उपचार अवश्य करिये लेकिन साथ में इन चीज़ों से भी परहेज़ करिये ताकि आपके जोड़ों का दर्द और न बढ़ सके और जोड़ों के दर्द के लिए उपयोगी व्यायाम करके भी आप राहत पा सकते हैं।

“पानी के सेवन से करें सिरदर्द का इलाज, जानिए कैसे”
“इन घरेलू उपाय से करे घुटनों का दर्द खत्म”
“एड़ियों के दर्द से जल्द छुटकारा पाने के बेहद कारगर घरेलु उपाय”

Add a comment