सच्चे दोस्तों को होती है आपकी चिंता, वो कभी नहीं कर सकते ये 8 गलत काम

170

इस दुनिया में दोस्ती से बढ़कर कोई रिश्ता नहीं होता है। सच्चे दोस्त बड़ी मुश्किल से मिलते हैं। आज की इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में लोग इतने बिजी हो गए हैं कि दोस्ती तो दूर की बात, पारिवारिक रिश्ते निभाना उनके लिए मुश्किल बनता जा रहा है। बाय चांस अगर आपको कोई सच्चा दोस्त मिला है, तो आप उससे रिश्ता बनाकर रखिए, क्योंकि सच्चे दोस्त ही हैं, जो हमेशा आपके काम आते हैं। हम आपको इस आर्टिकल में बता रहे हैं कि सच्चे दोस्त कौन होते हैं और वो जिंदगी में आपके साथ कभी ये चीजें नहीं कर सकते हैं।

1. आपको नीचा दिखाने की कोशिश नहीं करते
सच्चे दोस्त आपको कभी बुरा महसूस कराने के कोशिश नहीं करते हैं। वो गुस्सा जाहिर ना करते हुए विनम्रता के साथ बात करते हैं। उनका मकसद समानता बनाए रखना होता है ना कि मतभेद पैदा करना। वो आपकी अच्छाइयों के बारे में बात करते है ना कि आपकी कमियों के बारे में।

2. वे पीठ पीछे आपकी बुराई नहीं करते
सच्चे दोस्त वो होते हैं, जो खुद को फालतू के मामलों से दूर रखते हैं। यदि आपका कोई करीबी आपके बारे में अफवाहें फैलाता है या आपके सीक्रेट्स किसी से शेयर कर रहा है, तो वो आपका सच्चा दोस्त नहीं है।

3. वे फालतू की बहस नहीं करते हैं
सच्चे दोस्त जानते हैं कि फालतू की बहस करने से कोई फायदा नहीं होता है। सच्चे दोस्त को आपको वैसे ही पसंद करते हैं, जैसे आप होते हैं। वास्तव में सच्चे दोस्त आपकी बात को बीच में नहीं काटते हैं बल्कि वो एक बेहतर तरीके से मसले को सुलझाने की कोशिश करते हैं। बेशक आप गलत हो सकते हैं लेकिन सच्चे दोस्त आपको इस बात का एहसास नहीं होने देते हैं।

4. वे आपको बातों को नहीं काटते
सच्चे दोस्त आपकी हर बात और विचार में दिलचस्पी लेते हैं। वो आपकी भावनाओं की कद्र करते हैं। वो आपकी बातें सुनते हैं और समझते हैं। अगर आपका कोई दोस्त सिर्फ अपना राग गाता रहता है और आपकी बातें नहीं सुनता है, तो आपका सच्चा दोस्त नहीं है।

5. वे आपको अपने लक्ष्य हासिल करने के लिए हतोत्साहित नहीं करते हैं
सच्चे दोस्तों को अगर लगता है कि आपके व्यक्तिगत विकास के लिए आवश्यक है, तो वे बिना सोचे समझे आपको फीडबैक देने के लिए तैयार रहते हैं। वे आपको नीचा दिखाने के लिए नहीं बल्कि सच्चे दिल से ऐसा करते हैं। वो आपको अच्छी सलाह देते हैं, जो आपको बेहतर इंसान बनने के लिए प्रेरित करती है।

6. वे आपकी सफलता से नहीं जलते
अक्सर ऐसा होता है, जब साथ वाले किसी साथी को लगातार सफलता मिलती है, तो अन्य दोस्तों के बीच उसके प्रति खटास पैदा होने लगती है। लेकिन आपको बता दें सच्चे दोस्त वो होते हैं, जो आपकी सफलता से खुश होते हैं। अगर कोई दोस्त आपकी सफलता से नाखुश है, तो वो आपका सच्चा दोस्त नहीं है।

7. वो आपको गलत ठहराने की कोशिश नहीं करते
सच्चे दोस्त आपको गलत ठहराने की कोशिश नहीं करते हैं, क्योंकि वो जानते हैं कि उनके खुद के घर कुछ न कुछ मसले होते हैं। हर इंसान में कुछ न कुछ कमी होती है। कोई भी व्यक्ति दूध का धुला नहीं होता है। खासकर दोस्ती के मामले में किसी पर इल्जाम या किसी को गलत ठहराने से पहले आपको सोचना चाहिए कि आप कितने पानी में हैं। अगर कोई दोस्त किसी मसले को लेकर आपको गलत ठहराने की कोशिश कर रहा है, तो समझ लें कि वो आपका सच्चा मित्र नहीं है।

8. उनकी दोस्ती थोड़े समय के लिए नहीं होती
सच्चे दोस्त एक छोटे समय तक आपसे रिश्ता नहीं रखते हैं बल्कि वो आपसे लंबे समय दोसी निभाकर रखना चाहते हैं। किसी दोस्त को आपसे केवल इतना मतलब नहीं होना चाहिए कि वो आपके साथ ड्रिंक करे, गोल्फ खेले, मूवी देखे, क्लब में डांस करे या मस्ती करे बल्कि उसको आपका साथ उस समय भी देना चाहिए, जब आप कठिन समय से गुजर रहे हों। उदहारण के लिए अगर आपके परिवार में किसी की मृत्यु हो गई, या आपका ब्रेकअप हो गया या फिर आपकी जॉब छुट गई, तो उसे आपका सपोर्ट करना चाहिए और आपकी हिम्मत बांधनी चाहिए। ये ऐसी गंभीर स्थितियां होती हैं, जहां आपको एक सच्चे दोस्त की बहुत ज्यादा जरूरत होती है ताकि आप उसके साथ अपना गम साझा कर सकें। याद रखिए खुशी में तो सब साथ होते हैं लेकिन जो गम में भी साथ दे, वो ही सच्चा दोस्त होता है।

“असली और नकली दोस्तों के बीच होते हैं यह 10 बड़े अंतर”
“ऐसे दोस्तों से हमेशा दूर ही रहें”
“ये अच्छी आदतें बदल सकती है आपका भविष्य”

Add a comment