पिता के शहीद होने के बावजूद एग्जाम देने पहुंची यह बेटी इन्हें हमारा सलाम

348

अभी कुछ दिनों पहले जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में हुए आतंकी हमले में शहीद सुनील कुमार विद्यार्थी की बेटी ने पूरे भारत के सामने एक मिसाल पेश की है। पिता के शहीद होने के बावजूद इस बच्ची ने अपनी पढ़ाई को भी महत्व दिया और घर के गमगीन माहौल के बावजूद एग्जाम देने पहुंच गई।

इस घटना से स्कूल के प्रिंसिपल भी हैरान हो गए DAV स्कूल में पढ़ रही सुनील की तीनों बेटियां आरती, अंशु और अंशिका एग्जाम देने पहुंच गई स्कूल मैनेजमेंट भी इन बच्चियों के इस हौसले की तारीफ करते नहीं थक रहा।

उन्होंने यह कहा है कि इन बच्चियों को एग्जाम में गैरहाजिर होने की भी छूट दे दी गई है और इनके पेपर बाद में कंडक्ट कराए जाएंगे। आपको बता दें कि सुनील बोकनारी के रहने वाले थे जहां पर अभी भी मातम पसरा हुआ है उन्होंने 1998 में आर्मी में ज्वाइन कि थी .

उरी हमले में भारत के 18 जवान शहीद हुए थे यह बताया जाता है कि पाकिस्तान से आए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने ब्रिगेड हेडक्वार्टर पर हमला किया था जिसके बाद इस हमले में पाकिस्तान के जुड़े होने की पुष्टि हो गई थी। न्यूज़ एजेंसीयों के मुताबिक हमले के दौरान आतंकियों के पास मिले सभी हत्यार पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित किए हुए थे।

हम सलाम करते हैं देश के उन वीर जवानों को और उनके परिवारों को जो हर कठिनाई के बावजूद अपने हौसले को बुलंद रखते हैं।

Source

Add a comment