ये छोटी छोटी आदतें हमारे दिमाग के लिए हैं बेहद नुकसानदायक

1451

हमारा दिमाग यानी मस्तिष्क हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है अगर हमारा मस्तिष्क स्वस्थ नहीं होगा तो वो कई बड़ी बीमारियों का कारण बन सकता है इसलिए मस्तिष्क का ख़ास ख्याल रखना हमारे लिए बेहद जरुरी है !

कई बार हम जाने अनजाने में अपनी दिनचर्या में ऐसी आदतों को शामिल कर लेते हैं जो हमारे दिमाग के लिए बेहद हानिकारक साबित हो सकती हैं ! आइये आपको भी बताते हैं वो छोटी छोटी आदतें जो हमारे मस्तिष्क के लिए बेहद नुकसानदायक हैं कहीं आप भी तो नहीं करते ये गलतियां ?

सुबह नाश्ता ना करना

कुछ लोगों में सुबह नाश्ता ना करने की आदत होती हैं लेकिन ये आदत दिमाग के लिए बहुत नुकसानदायक है क्योंकि सुबह नाश्ता ना करने से हमारे शरीर में ब्लड शुगर लिवर कम होने लगता है जिस कारण मस्तिष्क तक पोषक तत्व नहीं पहुँच पाते जिससे ब्रेन डिजनरेशन का खतरा हो सकता है !

अधिक भोजन करना

लिमिट से ज्यादा खाना भी हमारी मानसिक शक्ति को कमजोर बनाता है क्योंकि ज्यादा खाने से हमारे मस्तिष्क की धमनियां सख्त हो जाती हैं !

स्मोकिंग

स्मोकिंग से हमारा मस्तिष्क संकुचित होता है जो अल्जाइमर का कारण बनता है !

ज्यादा चीनी खाना

ज्यादा चीनी खाने से शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है जिससे कुपोषण और दिमागी विकास रुक जाता है !

वायु प्रदूषण

मानसिक विकास के लिए ऑक्सीजन बेहद जरुरी है लेकिन वायु प्रदूषण के कारण हमारे शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है और इस कारण मानसिक विकास नहीं हो पाता कई बार इससे व्यक्ति मंदबुद्धि भी हो जाता है !

कम सोने की आदत

अगर आप भी पूरी नींद नहीं लेते तो आपको जान लेना चाहिए की नींद की कमी से हमारे दिमाग की कोशिकाएं मारने लगती है और दिमाग में विकृति हो सकती है !

सिर ढक कर सोना

सिर ढक कर सोने से हमारे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है और कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाती है जो हमारे दिमाग के लिए बेहद नुकसानदायक है !

बीमारी में भी दिमागी कसरत

अगर आप बीमार हैं और फिर भी दिमागी कसरत वाला काम करते हैं तो आपके मस्तिष्क की दक्षता कमजोर होने लगती है !

दिमागी कसरत

अगर आप अपने दिमाग को हर वक्त सुस्त रखते हैं तो ये आपके लिए हानिकारक हो सकता है ! अगर आप हर चीज़ के लिए अपना दिमाग दौड़ाएं और उसके लिए सोचें तो आपका दिमाग तेज होता है और डिसीजन लेने की क्षमता बढ़ती है !

कम बात करना

कम बात करने से दिमागी कसरत कम होती है ऐसे में आपके बुद्धि का विकास रुक जाता है इसलिए हर बातचीत का हिस्सा बने और दिमागी कसरत करते रहें !

Add a comment