Download App

विश्व के कुछ ऐसे कानून जो महिलाओं के खिलाफ है

0

आज के समय में महिलाओं को समान दर्जा देने के लिए पूरे विश्व में कई प्रकार के आंदोलन किए जा रहे हैं और आए दिन हम सुनते सुनते हैं कि महिलाओं के साथ कई प्रकार के जघन्य अपराध किए जाते हैं।

ऐसा नहीं है कि इनके लिए कोई रोकथाम नहीं है क्योंकि पूरी दुनिया में कई प्रकार के अधिकार और कानून महिलाओं के लिए बनाए गए हैं। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे कानूनों के बारे में बताने जा रहे हैं जो महिलाओं के खिलाफ है और इन कानूनों से महिलाओं को समानता मिलना बहुत मुश्किल है। तो चलिए इन कानूनों के बारे में विस्तारपूर्वक जानते हैं।

उत्तरी अमेरिका महाद्वीप के कैरेबियाई देश बहामास मैं एक विचित्र प्रकार का कानून लागू किया गया है जिसमें किसी भी पति को अपनी पत्नी के साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाने की छूट है। इस कानून के अंतर्गत पत्नी की उम्र 14 साल से कम नहीं होनी चाहिए। सिंगापुर मैं भी कुछ इसी प्रकार का अधिकार पुरुषों को मिल गया है जिसमें पत्नी की उम्र 13 साल से भी कम नहीं होनी चाहिए लेकिन यह अधिकार महिलाओं के तुष्टीकरण मैं एक अहम भूमिका निभा रहा है जो कि सही नहीं है।

rules-against-womens1

लेबनान में कोई भी पुरुष अगर किसी महिला का अपहरण कर लेता है और उसके बाद अगर वह महिला उस पर उससे शादी करने के लिए तैयार हो जाती है तो अपहरणकर्ता को कोई भी सजा नहीं दी जाती। यूरोपीय देश माल्टा में भी कुछ इसी प्रकार का नियम है अगर पीड़ित से विवाह कर लिया जाए तो सजा मैं माफी मिल जाती है। लेकिन इस प्रकार के कानून से क्या उचित न्याय मिल रहा है यह अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं।

rules-against-womens2

मिस्र में अगर पत्नी पति को धोखा देती है तो पति को यह अधिकार है कि वह उसकी हत्या कर सकता है और इस हत्या के लिए उस पति को कोई सजा भी नहीं दी जाएगी। सीरिया में भी कुछ ऐसी ही स्थिति है यहां पर कोई भी पुरुष अपनी मां, बहन, पत्नी, बेटी की हत्या करने के लिए स्वतंत्र है।

rules-against-womens3

नाइजीरिया मैं कानून के अंतर्गत पुरुष यदि किसी भी स्त्री को शारीरिक रूप से प्रताड़ित करता है तो इसके खिलाफ कोई भी सजा नहीं है। वह किसी भी स्त्री को पीट सकता है और उसकी अवमानना कर सकता है। शर्त यह है कि वह औरत उसकी पत्नी होनी चाहिए और वह उस औरत को गंभीर रुप से घायल ना करें ऐसा करने पर उसको कोई भी सजा नहीं होगी।

rules-against-womens4

कैमरन और गिनी जैसे देशों में पति को यह अधिकार है कि वह तय कर सके की पत्नी जॉब करेगी या नहीं। कोई भी पुरुष अपनी पत्नी को उसकी मर्जी से काम करने से रोक सकता है अगर पति को पसंद नहीं है तो पत्नी काम नहीं करेगी।

rules-against-womens5

इसराइल मैं शादी और तलाक धार्मिक कानूनों के आधार पर किए जाते हैं। यहां पर तलाक कानून के मुताबिक नहीं होते इसी वजह से जब पुरुष को तलाक लेना होता है तो वह धर्म की आड़ में तलाक ले लेते हैं।

rules-against-womens6

सऊदी अरब में महिलाओं को फ़तवे के अनुसार काम करना होता है। अगर फतवे मैं यह कह दिया गया कि वह ड्राइविंग नहीं करेंगी तो वह ड्राइविंग नहीं कर सकती। इसके अलावा वह ड्राइविंग लाइसेंस भी नहीं ले सकती।

When a Woman says No, She Means It

अफगानिस्तान और यमन जैसे देशों में पुरुष यह तय करते हैं कि महिलाएं घर से बाहर निकलेंगी या नहीं।

rules-against-womens8

Add a comment