दिल्ली मेट्रो पुल के नीचे चलता है यह अनोखा स्कूल

0
332

हमारे देश की राजधानी दिल्ली जहां बड़े से बड़े स्कूल और कॉलेज हैं जिनके बारे में आपने सुना ही होगा। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे स्कूल के बारे में बताने जा रहे हैं जानना तो कोई इमारत है और ना ही कोई क्लास।

यह स्कूल पूर्वी दिल्ली के यमुना बैंक मेट्रो स्टेशन पुल के नीचे है। ऐसे कितने ही बच्चे होते हैं जो स्कूल की फीस जमा न कराने की वजह से कभी पढ़ नहीं पाते और यह लोग कभी सरकारी स्कूल में भी दाखिला नहीं कर पाते। लेकिन ऐसे सभी गरीब बच्चों के लिए यह स्कूल अपनी सेवाएं देता है।

school-3 दिल्ली मेट्रो पुल के नीचे चलता है यह अनोखा स्कूल

इस स्कूल में करीब 200 गरीब बच्चे पढ़ते हैं। इन सभी बच्चों के माता-पिता मजदूरी करते हैं और ठेला लगा कर सड़कों पर सामान बेचते हैं। कइयों के मां बाप तो भीख भी मांगते हैं इन बच्चों को स्कूल में पढ़ाने के लिए दीवार पर ही काला पेंट करके उसे ब्लैक ब्लैक बोर्ड बना दिया गया है। बच्चों के बैठने के लिए जमीन में ही दरी बिछाई जाती है।

आपको बता दें कि यह स्कूल राजेश कुमार शर्मा जो की लक्ष्मी नगर में एक जनरल स्टोर चलाते हैं उनके द्वारा संचालित किया जाता है। राजेश बताते हैं कि 2006 में स्कूल को उन्होंने यमुना के जंगलों में शुरू किया था। यहां पर बरसात के मौसम के दौरान इस स्कूल को बंद करना पड़ता था जब यह मेट्रो स्टेशन बना तो राजेश कुमार ने स्कूल को मेट्रो पुल के नीचे शिफ्ट कर दिया।

school-2 दिल्ली मेट्रो पुल के नीचे चलता है यह अनोखा स्कूल

तब से ही यह स्कूल यहीं चलाया जा रहा है। हम सलाम करते हैं राजेश कुमार जैसे लोगों को जो व्यवस्थाओं का बहाना ना बनाते हुए अपने कर्तव्यों से मुंह नहीं मोड रहे। हम में से कई ऐसे लोग हैं जिन्होंने यह बात सोची तो होगी मगर कभी भी इसको करने के लिए हिम्मत नहीं जुटा पाए। हम आशा करते हैं इस पोस्ट को पढ़ने के बाद हम में से कई भाई बहन कुछ ऐसे ही सकारात्मक कदम उठाएंगे और अपने देश की प्रगति में अग्रसर होंगे।

Add a comment