भारत के 10 महान वैज्ञानिक

1341

भारत हर क्षेत्र में उपलब्धि पाने में किसी से कभी पीछे नहीं रहा। भारत के कई ऐसे शख्स हैं जिन्होंने भारत का नाम सातवें आसमान पर ला खड़ा किया। अगर भारत के वैज्ञानिकों की बात करें तो भारत में एक से एक वैज्ञानिक हुए हैं जिनका भारत के विकास में काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा है। आज हम आपको भारत के कुछ ऐसे ही महान वैज्ञानिकों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी उपलब्धियों की चर्चा आज पूरी दुनिया करती है।

1. होमी जहाँगीर भाभा

होमी जहाँगीर भाभा ही वह शक्स हैं जिन्हें भारतीय परमाणु का जनक कहा जाता है। मुंबई में भाभा परमाणु शोध संस्थान की स्थापना करने वाले भी होमी जहाँगीर भाभा ही हैं।

2. विक्रम साराभाई

विक्रम साराभाई भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान राष्ट्रीय समिति के पहले अध्यक्ष रहे हैं। इसके अलावा थुम्बा में स्थित इक्वेटोरियल रॉकेट प्रक्षेपण केन्द्र के मुख्य सूत्रधार रहे हैं। भाभा के बाद परमाणु ऊर्जा आयोग के अध्यक्ष भी विक्रम साराभाई ही बने थे।

3. एस. एस. भटनागर

देश में वैज्ञानिक प्रयोगशालाओं की स्थापना करने वाले एस. एस. भटनागर ने विज्ञान प्रसारक के रुप में अपने कई योगदान दिए हैं और भारत को कई उपलब्धियां दिलाई जिनके कारण यह विश्वभर में एक जानी मानी हस्ती बन गए।

4. सतीश धवन

सतीश धवन ध्वनि के तेज रफ़्तार (सुपरसोनिक) विंड टनेल के विकास के मुख्य सूत्रधारक रहे हैं साथ ही इन्हे सन 1971 में विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में भारत सरकार ने पद्म भूषण से भी सम्मानित किया।

5. जगदीश चंद्र बसु

जगदीश चंद्र बसु ही भारत के पहले वैज्ञानिक शोधकर्त्ता थे और यही वो शख्स हैं जिन्होंने बताया कि पौंधों में भी जीवन होता है। अपनी उपलब्धियों और भौतिक तथा जीव विज्ञान के लिए जगदीश चंद्र बसु ‘रॉयल सोसायटी लंदन’ के फैलो भी चुने गए।

6. चंद्रशेखर वेंकट रमन

स्पेक्ट्रम से संबंधित रमन प्रभाव का आविष्कार करने वाले शख्स चंद्रशेखर वेंकटरमन ही है और इन्हें इनकी इस उपलब्धि के चलते 1930 में भौतिकी का नोबेल पुरस्कार भी दिया गया।

7. बीरबल साहनी

भारत के सर्वश्रेष्ठ पेलियो-जियोबॉटनिस्ट माने जाने वाले बीरबल साहनी ने कई उपलब्धियां हासिल की और अपनी उपलब्धियों के चलते ही यह अंतरराष्ट्रीय ख्याति के पुरावनस्पति वैज्ञानिक भी थे।

8. सुब्रमण्‍यम चंद्रशेखर

भारत के सुब्रमण्यम चंद्रशेखर सर्वश्रेष्ठ वैज्ञानिकों में से एक रहे हैं जो 1983 में तारों पर की गई इनकी खोज के लिए नोबेल पुरस्कार से भी सम्मानित हुए।

9. हरगोविंद खुराना

जीन के संस्लेषण करने वाले हरगोविंद खुराना अपने इस योगदान के लिए नोबल पुरस्कार से भी सम्मानित हो चुके हैं।

10. ए.पी.जे. अब्‍दुल कलाम

भारत के सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रपति रहे और मिसाइल मैन के नाम से जाने जाने वाले एपीजे अब्दुल कलाम ने अग्नि एवं पृथ्वी जैसे प्रक्षेपणों को स्वदेशी तकनीक से बनाया। अपने ऐसे अहम योगदान के लिए भारत सरकार ने इन्हें 1981 में पद्म भूषण और 1990 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया।

“बड़ों के पैर छूने के पीछे का वैज्ञानिक कारण”
“जानिए देव सोने और उठने की मान्यता के पीछे का वैज्ञानिक कारण”
“उत्तर दिशा की ओर सिर करके कभी ना सोएं, जानिए इसके वैज्ञानिक कारण”

Add a comment