2016 के वो रहस्य जो अनसुलझे ही रह गए

1062

साल 2016 गुजर गया और कई ऐसी घटनाएं हुई जो कभी भूली नहीं जा सकती और कुछ ऐसी खूबसूरत यादें तो हम कभी भुला नहीं सकते ! लेकिन 2016 की कुछ ऐसी घटनाएं भी हैं जिनका रहस्य अभी भी अनसुलझा ही रह गया ! आइये आपको बताते हैं 2016 की उन घटनाओं के बारे में जिनके रहस्य से पर्दा नहीं हट सका !

120000 एंटिलोप्स की मौत

2016 का मई का महीना कज़ाकिस्तान के लिए एक अचंभित कर देने वाला था जब यहाँ इस महीने में करीब 120000 एंटिलोप्स की मौत हो गई लेकिन ऐसा क्यों हुआ इसका खुलासा अभी तक नहीं हो पाया ! कुछ वैज्ञानिक अपने तर्क से बताते हैं की शायद किसी ख़ास बैक्टीरिया के कारण ऐसा हुआ लेकिन इस घटना के असली कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है !

एम एच-370 फ्लाइट

मलेशियन एयरलाइन्स का हवाई जहाज़ एम एच 370 मार्च 2014 में अचानक गायब हो गया इसमें करीब 239 यात्री सवार थे लेकिन ये कैसे गायब हुआ और इसके साथ क्या घटना घाटी इसके बारे में आज तक पता नहीं चल पाया है, इस विमान का अभी तक मलबा भी नहीं मिल पाया है !

डरावने जोकर

UAS के क्लिफ्टन पार्क इलाके में कुछ लोगों ने डरावने जोकर देखने का दावा किया और पुलिस में शिकायत भी दर्ज की लेकिन पुलिस ने भरपूर कोशिश की लेकिन इन डरावने जोकरों का आज तक पता नहीं चल पाया !

कज़ाकिस्तान के अजीब पेटर्न

कज़ाकिस्तान के सुदूर इलाकों में एक स्वास्तिक जैसा एक पैटर्न दिखाई दिया जो गूगल अर्थ में भी साफ़ दिखाई देता है लेकिन वैज्ञानिकों ने खूब खोजबीन कर ली लेकिन असल में पता नहीं लग पाया की ये आकृति कैसे बनी, किसने बनाई और इस आकृति का अर्थ क्या है !

जापान के समुद्री किनारों मिली लाशों से भरी नावें

जापान के उत्तर पश्चिमी समुद्री किनारों में कई ऐसी नावें पाई गई हैं जिनमे लाशों का ढेर मिला था ऐसी एक दो नहीं कई नावें मिली थी ! कुछ लोगों का कहना है की ये नार्थ कोरिया का काम है क्योंकि इन नावों से नार्थ कोरिया के झंडे मिले हैं लेकिन दावे से कोई नहीं के पाया की नावों में मिली ये लाशें कहाँ से आई और ये किसका काम था !

रहस्मयी कचरा

नवंबर 2016 में नासा के वैज्ञानिकों ने दावा किया की उन्होंने अंतरिक्ष में कुछ अजीबोगरीब और रहस्यमयी कचरे को देखा जिसे उन्होंने ना दिया WT1190F ! वैज्ञानिकों का कहना था की ये कचरा धरती के नजदीक आते ही जल गया ! लेकिन अभी तक वैज्ञानिक इस नतीजे पर नहीं पहुँच पाए की ये असल में क्या चीज़ थी !

Add a comment