इस देश में की जाती है पानी की खेती

392

भारत एक कृषि प्रधान देश है और यहां पर कई प्रकार की खेती की जाती है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर पानी की खेती की जाती है। यह सुनने के बाद आप एक बार को इस बात को शायद समझ ना सके लेकिन इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप पूरी तरह से इस बात को समझ जाएंगे कि पानी की खेती किस प्रकार की जाती है।

मोरक्को के एक बंजर इलाके में वैज्ञानिक ने एक अनोखी तरकीब से पानी की खेती करने का कारनामा करके दिखा दिया है। साल के 6 महीने इस जगह पर समुद्र से उठा हुआ कोहरा आता है इसको वैज्ञानिकों ने पानी में बदलने की तकनीक इजाद कर ली है।

बादलों को रोकने के लिए यहां पर एक विशेष किस्म का जाल लगाया गया है। इस जाल में पानी के कण इकट्ठे हो जाते हैं और नमी के कारण बाद में पानी के रूप में परिवर्तित हो जाते हैं। इन्हें कुछ इलाकों में लगाया जाता है और यह फोग कैचर के नाम से मशहूर हैं। इन फोग कैचर में जो नमी पानी में परिवर्तित होती है उसे ठंडे कुओं तक पहुंचाया जाता है। पानी को कूओं तक पहुंचाने के लिए पाइपों का इस्तेमाल किया जाता है।

इस सिस्टम के माध्यम से यहां के आसपास के लोगों की पानी की किल्लत पूर्ण रूप से खत्म हो गई है और लोगों को पानी के लिए जगह-जगह भटकना ही नहीं पड़ता क्योंकि यह पानी खुद पाइपों के माध्यम से उनके पास आ जाता है।

इस प्रोजेक्ट को यूएन के द्वारा “मोमेंटम फॉर चेंज” का अवार्ड भी दिया गया है जलवायु परिवर्तन से जुडी चुनौतियों का सामना करने के लिए इस प्रोजेक्ट को यह अवार्ड दिया गया। इस प्रोजेक्ट की वजह से अब बंजर जमीन में भी हरियाली छाने लगी है और यहां पर आसपास पेड़ पौधे भी लग गए हैं।

अब इस परियोजना का सेकंड फेज चलाया जाएगा जिसमें 6000 वर्ग मीटर का जाल लगाया जाएगा और इसके जरिए 8 और गांव में पानी की व्यवस्था की जाएगी। यह माना जा रहा है कि आने वाले समय में इस परियोजना के द्वारा बिजली का उत्पादन भी किया जाएगा। हम आशा करते हैं कि इस प्रकार की तकनीक का इस्तेमाल भारत में भी किया जाए ताकि प्रकृति द्वारा दी गई सुविधाओं का लाभ उठाया जा सके।

Add a comment