नाखून पर सफ़ेद निशान कैल्शियम की कमी नहीं होता जानिए क्योँ ?

779

आपने सभी ने यह बात ज़रूर कभी न कभी किसी न किसी से जरूर सुनी होगी कि नाखून पर सफ़ेद निशान होने का कारण कैल्शियम की कमी होती है। लेकिन इसकी असली वजह कुछ और ही होती है।

सही में बात यह है की आपको जिन्होंने यह बात बताई है शायद उन्हें खुद ही इस बारे में शायद नहीं पता है। एक खोज के अनुसार यह बताया गया है की जब नाखून पर किसी प्रकार की चोट लग जाती है तो वो हिस्सा सफ़ेद हो जाता है और जैसे – जैसे नाखून बढ़ता है ये सफ़ेद निशान भी चला जाता है।

या फिर ये कोई नाखून का इन्फेक्शन भी हो सकता है इसको कैल्शियम की कमी मन लेना उचित नहीं है। अब तक हमने कई ऐसी पोस्ट पढ़ी या देखि होंगी जिनमे यह बताया गया है की अगर आपके नाखून पर सफ़ेद निशान है तो इसका मतलब यह है की आपको कैल्शियम की कमी है पर इन बातों पर ध्यान बिलकुल ना दें।

लेकिन आपके नाखून आपको कई और बीमारियों के बारे में बता सकते है लेकिन कैल्शियम वाली बात भ्रामक है और कुछ नहीं। इन निशानों को पुंकटेट लूकोनेकिया या मिल्क स्पॉट भी कहा जाता है। यह एक तरीके की चोट है जो जाने अनजाने में नाखून पर लग जाती है जिस से हमारे नाखून की ऊपरी सतह डैमेज हो जाती है और इस प्रकार के निशान पड़ जाते है।

आपको बता दें की आपके नाखून 3.5 mm प्रति माह बढ़ जाते है और इसी वजह से ये निशान भी चले जाते है। इस से आपको घबराने की जरूरत नहीं है हम आशा करते है ये जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक सिद्ध हुई होगी और आप इसे अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करेंगे।

Source

Add a comment