पानी को बार-बार नहीं उबालना चाहिए हो सकते हैं यह नुकसान

349

हम सभी ने यह बात तो कई बार सुनी होगी कि पानी को उबाल कर पीना चाहिए। ऐसा करने से पानी की अशुद्धियां दूर हो जाती है लेकिन यह आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। सुनने में यह बात थोड़ी सी अजीब लगेगी लेकिन ऐसा होता है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि ज्यादा पानी उबालने से क्या- क्या दुष्प्रभाव होते हैं।

ज्यादा पानी उबालने से पानी के घटक उलटे हो जाते हैं

पानी को ज्यादा उबालने से आपके सेहत पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है क्योंकि पानी जिन घटक से मिलकर बनता है ज्यादा बार उबालने से वह घटक उलटे हो जाते हैं जो हमारे शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं।

पानी को ज्यादा उबालने से होते हैं कई केमिकल रिएक्शन

अगर हम पानी को बार-बार उबाल कर ठंडा करते हैं और फिर उसको उबालते हैं तो उसमें कई रसायनिक प्रक्रिया हो जाती है जो आपके शरीर के लिए हानिकारक हो सकती है।

बार-बार उबालने से बढ़ सकती है टॉक्सिक नाइट्रेट की मात्रा

अगर आप पानी को अत्यधिक उबलेंगे तो पानी में मौजूद नाइट्रेट एक प्रकार के टॉक्सिन में बदल जाएगा जिससे कैंसर होने का खतरा भी बढ़ सकता है।

आर्सेनिक इंटॉक्सिकेशन बढ़ जाता है

हद से ज्यादा पानी को गर्म करने से पानी में घातक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है। इस प्रकार के घातक तत्वो से कैंसर, हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ जाता है साथ ही महिलाओं और पुरुषों में प्रजनन क्षमता की भी कमी हो जाती है।

ज्यादा उबला हुआ पानी पचाना भी होता है मुश्किल

अगर आप पानी को बार बार उबलेंगे तो पानी भारी हो जाता है जिससे उसको पचाने में काफी मुश्किल होती है। ऐसा पानी पीने से आपको पेट से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं।

फ्लोराइड की मात्रा में भी होता है बदलाव

पानी को ज्यादा उबालने पर इसमें फ्लोराइड की मात्रा बढ़ जाती है जिसके कारण दिमागी बीमारी होने का खतरा भी बढ़ जाता है। खासकर बच्चों के लिए इस प्रकार का पानी बेहद खतरनाक है।

ज्यादा उबालने से पानी में मिल जाती है भाप

पानी को अगर आप बार-बार उबलेंगे तो उसमें से भाप निकल कर वापस पानी में मिल जाएगी जो की सेहत के लिए बहुत नुकसानदायक होता है।

कब और कितना उबाले पानी

पानी को सिर्फ एक बार उबालना चाहिए। इस्तेमाल लेने से पहले पानी को 20 मिनट तक उबालें और उसके बाद इसे किसी बर्तन में ढककर ठंडा होने के लिए छोड़ दें। इसके बाद इस पानी को पिले।

Add a comment