एक सदी से पाकिस्तान के कैद में है यह बरगद का पेड़

पाकिस्तान और भारत के रिश्ते में सदा से ही मधुरता नहीं रही है यह बात तो सब जानते हैं। लेकिन यह बात बहुत कम लोग जानते हैं की पाकिस्तान की कैद में आज भी एक बरगद का पेड़ है। आपको यह बात सुनकर मजाक लग रही होगी मगर यह सच है।

पाकिस्तान ने इस बरगद के पेड़ को 1898 से हिरासत में लिया हुआ है। बाकायदा इस पेड़ को जंजीरों से बांध कर रखा हुआ है जैसे कि अगर इसको छोड़ दिया गया तो यह भाग जाएगा। इस पेड़ पर एक तख्ती भी लगी हुई है जिस पर लिखा हुआ है आई एम अंडर अरेस्ट।

आपको बता दें कि यह पेड़ पाकिस्तान में खैबर दर्रे के पास लंदी कोतल कंटोनमेंट एरिया में स्थित है। अब आप सभी के मन में यह उत्सुकता जाग रही होगी ऐसा क्यों है? और पेड़ को बांधकर क्यों रखा गया है? इस पेड़ का कसूर क्या है? तो आपको बता दें कि इसकी कहानी भी काफी दिलचस्प है।

दरअसल यह पेड़ एक अंग्रेज अफसर द्वारा गिरफ्तार किया गया था यह माना जाता है की जेम्स स्क्विड नामक एक अंग्रेज अफसर शराब के नशे में धुत होकर एक पेड़ के पास से निकल रहा था। जब उसने इस पेड़ को देखा तो उसे लगा कि यहां पेड़ उसे भयभीत करने की कोशिश कर रहा है। उसी समय इस अफसर ने अपने सैनिकों को इस पेड़ को गिरफ्तार करने को कहा और तख्ती लगाने के आदेश भी दिए जिसपर लिखा था की आई एम अंडर अरेस्ट।

उस समय से लेकर आज तक यह पेड़ जंजीरों में जकड़ा हुआ है। आजादी मिलने के बाद भी यह पेड़ आज तक आजाद नहीं हुआ है। लेकिन कुछ लोग इस पेड़ को इसलिए ऐसे रखे हुए हैं ताकि लोगों को यह पता चल सके कि अंग्रेजों का शासन कितना क्रूर था।

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment