रेगिस्तान के बीचो बीच बसा गांव जहाँ कोई कमी नहीं है हरियाली की

नवम्बर 8, 2016

जब भी हम रेगिस्तान के बारे में सोचते हैं तो हमें बस धूल ही धूल नजर आती हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताएंगे जो गांव रेगिस्तान के बीचोबीच बसा हुआ है। लेकिन वहां पर पानी से लेकर हरियाली तक किसी भी सुख सुविधा की कमी नहीं है। पेरू के ऊंचे ऊंचे रेतीले टीलों के बीच बसा हुआ है हुआकाचिना गांव जहां किसी भी चीज की कमी नहीं है।

यह गांव किसी अच्छे खासे शहरी कस्बे जैसा है। आश्चर्य की बात यह है कि यहां का वातावरण भी काफी सुकून है। यहां झील भी है जहां लोग बोटिंग का मजा लेते हैं। रेत के टीले होने के बावजूद यहां मौसम हमेशा सुहावना रहता है इसीलिए साल भर यहां पर्यटकों की भरमार लगी रहती है।

यह माना जाता है कि यह पानी आर्थराइटिस, अस्थमा, खांसी आदि के उपचार में काफी उपयोगी है। इसीलिए लोग इस तालाब में नहाना पसंद करते हैं और उसके बाद इस मिटटी को अपने शरीर पर लगाते हैं।

यह जगह पृथ्वी के सबसे शुष्क यानी के सूखे स्थानों में से एक मानी जाती है लेकिन यह स्थान अपने आप में प्राकृतिक सौंदर्य को संजोए हुए हैं यह पर्यटक स्थल काफी मशहूर भी है।

यहां आने वाले पर्यटक छोटी छोटी गाड़ियों से स्थानीय टीलों को घूमना नहीं भूलते। यहां पर कई होटल दुकानें लाइब्रेरी जैसी तमाम सुविधाएं उपलब्ध है। इस जगह पर रहने वाले ज्यादातर लोग ईसाई धर्म को मानते हैं। इस जगह पर गर्मी के साथ-साथ थोड़ी सी उमस भरा माहौल भी रहता है क्योंकि यह जगह थोड़ी सी शुष्क है।

“मानसून में घूमने लायक भारत की 5 सबसे बेहतरीन जगहें”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें