आग क्या है?

एक दौर था जब आग के बारे में इंसान को कोई जानकारी नहीं थी लेकिन आज आग ऐसी सामान्य चीज़ हो गयी है जिससे हम सभी ना केवल परिचित हैं बल्कि इसका भरपूर दोहन भी करते हैं। ऐसे में अगर ये पूछा जाए कि आग क्या होती है तो आप आसानी से बता देंगे कि आग ऐसी चीज़ होती जो गर्मी और प्रकाश पैदा करती है। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि आग उत्पन्न होने की प्रक्रिया क्या होती है? ऐसे में क्यों ना आज, आग से जुड़ी ये ख़ास जानकारी ली जाए। तो चलिए, आज आपको बताते हैं कि आग क्या है और कैसे उत्पन्न होती है।

आग दहनशील पदार्थों का तीव्र ऑक्सीकरण होता है जिससे ऊष्मा, प्रकाश के साथ कार्बन डाई ऑक्साइड और जल जैसे कई उत्पाद निकलते हैं। दहन योग्य पदार्थ जब पर्याप्त ऑक्सीजन की उपस्थिति में पर्याप्त ऊष्मा के संपर्क में आता है तब आग पैदा होती है और अगर इनमें से एक भी चीज़ की कमी हो यानी जलने योग्य पदार्थ, ऑक्सीजन और ऊष्मा में से एक भी कारक अनुपस्थित हो तो आग जलना संभव नहीं हो सकता है।

आग जलने की प्रक्रिया में शृंखलाबद्ध प्रतिक्रिया होती है यानी एक बार आग जलने के बाद शृंखलाबद्ध प्रतिक्रिया शुरु हो जाती है और जब तक ऑक्सीजन और दहनशील पदार्थ मौजूद रहता है तब तक आग जलती रहती है और फैलती भी रहती है। ऐसे में आग को बुझाने के लिए ऑक्सीजन और ईंधन में से किसी एक को अलग करना जरुरी हो जाता है। इसके लिए आग पर पर्याप्त पानी या कार्बन डाई ऑक्साइड का प्रयोग करके आग बुझाई जा सकती है।

आग को 4 प्रकारों में बांटा गया है-

Class A type fire – Solid Fire – आग के इस प्रकार में लकड़ी, कागज, कपड़ा और रबर जैसी चीज़ों से आग लगने का ख़तरा रहता है।

Class B type fire – Flammable Fire – methanol, toluene, xylene diesel, petrol जैसे flammable liquids की वजह से आग लग सकती है।

Class C type fire – Flammable gas जैसे LPG, CNG और Acetylene के कारण आग लग सकती है।

Class D type fire – इस तरह की आग इलेक्ट्रिकल शॉर्ट सर्किट या इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के कारण लगती है।

दोस्तों, अब आप जान गए हैं कि आग क्या है और आग जलने की प्रक्रिया क्या होती है। साथ ही आग के प्रकारों से भी आप परिचित हो गए हैं।

उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आएगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

“पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?”