एयर कंडीशनर खरीदने से पहले ध्यान रखे ये बातें

जुलाई 18, 2018

गर्मी आते ही ठंडक की तलाश शुरू हो जाती है और इसके लिए कूलर, फ्रिज, एसी जैसे इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स की मांग बहुत तेजी से बढ़ जाती है क्योंकि हर कोई गर्मी से निजात पाना चाहता है और इसलिए एयर कंडीशनर की मांग और जरुरत भी गर्मियों में बहुत बढ़ जाती है। हो सकता है कि इन गर्मियों में आपको भी एसी की जरुरत महसूस हो रही हो और आप एसी खरीदने के बारे में सोच रहे हों। ऐसे में अगर आप कुछ ऐसी जरुरी बातों को जान लेंगे जो आपको एसी खरीदने में मदद करेंगी तो आपके लिए अपनी जरुरत के अनुसार परफेक्ट एसी खरीदना बिलकुल आसान हो जाएगा। तो चलिए, आज आपको बताते हैं कि एयर कंडीशनर यानी एसी खरीदते समय आपको किन बातों पर गौर करना है–

साइज – आपको घर के जिस कोने में एयर कंडीशनर लगाना है उसके अनुसार ही एसी की साइज का चुनाव करें क्योंकि हॉल या छोटे कमरे में लगने वाले एसी उस कमरे के आकार के अनुसार लिए जाने पर ही सही तरीके से काम करेंगे यानी हॉल में छोटा एसी और छोटे कमरे में बड़ा एसी सही तरीके से काम नहीं करेगा और उतनी ठंडक नहीं दे पाएगा इसलिए जगह के हिसाब से ही एसी की साइज को चुने।

कैपेसिटी – एयर कंडीशनर की ठंडी हवा का पूरा लुत्फ उठाने के लिए आपको उसकी कैपेसिटी पर भी गौर करना होगा। स्क्वायर फीट के हिसाब से अगर कमरा 90 स्क्वायर फीट से छोटा है तो 0.8 टन का AC सही रहेगा जबकि 90-120 स्क्वायर फीट जगह क लिए 1.0 टन का AC, 120 -180 स्क्वायर फीट जगह के लिए 1.5 टन का AC और 180 स्क्वायर फीट से बड़ी जगह के लिए 2.0 टन का AC होना जरुरी होता है।

बिजली की खपत – एयर कंडीशनर खरीदते समय आपको बिजली के बिल का भी ध्यान रखना होगा इसलिए एसी पर लगे स्टार्स की रेटिंग पर गौर करें। जितने ज्यादा स्टार्स होंगे उतनी ही बिजली की खपत कम होगी। हालाँकि 4-5 स्टार वाले एसी की कीमत थोड़ी ज्यादा होती है लेकिन ये खर्च आपकी जेब पर उतना भारी नहीं पड़ेगा जितना हर महीने बिजली की ज्यादा खपत की वजह से आने वाला भारी भरकम बिजली का बिल।

टाइमर और सेंसर – एयर कंडीशनर में टाइमर और सेंसर का होना भी बेहद जरुरी है क्योंकि टाइमर की मदद से एसी को तय समय पर ऑटोमैटिक ऑन और ऑफ कर सकते हैं। ऐसा करने का सबसे बड़ा फायदा बिजली की खपत को रोकना है।

वोल्टेज स्टैब्लाइजर – AC के साथ वोल्टेज स्टैब्लाइजर का होना भी बहुत जरुरी है। इसके लिए ये ध्यान रखना होगा कि जितने टन का AC खरीदें, उतने ही पावर वाला स्टैब्लाइजर भी होना चाहिए। ऐसे में अगर AC 0.5-0.8 टन का है तो उसके साथ 2KVA का स्टैब्लाइजर सही रहेगा। 1.0 टन से 1.2 टन के AC के लिए 3KVA का, 1.2 -1.6 टन के AC के लिए 4KVA का, 2.0-2.5 टन AC के लिए 5KVA और 3 टन से अधिक क्षमता वाले AC के लिए 6KVA का स्टैब्लाइजर होना चाहिए।

ब्रांड – AC खरीदते समय उसके ब्रांड पर गौर करना भी बहुत जरुरी है। ऐसे में अपने बजट में आने वाले 4 -5 पॉपुलर ब्रांड्स के AC की तुलना करिये और उनमें से जिस ब्रांड का AC आपकी अपेक्षाओं पर खरा उतरें, उसे अपने घर ले आइये।

विंडो एसी या स्पिल्ट एसी – आजकल स्पिल्ट एसी को ज्यादा पसंद किया जाता है क्योंकि आजकल एक बड़ी पॉपुलेशन फ्लैट में रहने लगी है जहाँ विंडो एसी को इतना महत्व नहीं दिया जाता। नमी वाले मौसम में विंडो एसी में विंडो के पीछे से पानी टपकने लगता है और इसमें विंडो के पास ही ज्यादा कूलिंग होती है लेकिन तुरंत कूलिंग के लिए आप इसका चुनाव कर सकते हैं जबकि स्पिल्ट एसी में पूरे कमरे में कूलिंग होती है।

वैसे तो वाइट कलर का AC चलन में ज्यादा रहता है लेकिन आजकल कई तरह के रंगों में AC मिलने लगे हैं। इतना ही नहीं, मार्केट में आजकल इन्वर्टर एसी, सैटेलाइट एसी, मच्छर भगाने वाले एसी और पर्यावरण को बचाने वाले एसी भी मिलने लगे हैं। ऐसे में आपके पास ढेरों ऑप्शन हैं और सही जानकारी भी। तो बस, देर किस बात की ! इन गर्मियों को अपने परफेक्ट AC की कूलिंग से ठंडा ठंडा कूल कूल बना लीजिये।

स्मार्टफोन खरीदने से पहले इन बातों का रखे ध्यान

Featured Image Source

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें