अगर आप सोना ही छोड़ दें तो क्या होगा

आप जानते हैं कि एक अच्छी नींद लेना स्वस्थ शरीर के लिए बेहद ज़रूरी होता है। रोज़ाना 6 -8 घंटे की नींद आपको स्वस्थ बनाये रखेगी वहीं ज़्यादा सोने से डायबिटीज, मोटापा और दिल की कई बीमारियों का ख़तरा बढ़ जाता है लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि नहीं सोने से आपके शरीर और स्वभाव पर क्या प्रभाव पड़ सकता है। तो चलिए, आज आपको बताते हैं कि क्या होगा अगर आप सोना ही छोड़ दें –

प्रतिरोधक क्षमता पर विपरीत प्रभाव – हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बीमारियों के आक्रमण से शरीर की सुरक्षा करती है और स्वस्थ रहने के लिए प्रतिरोधक तंत्र का मज़बूत होना बेहद जरुरी होता है लेकिन नहीं सोने की स्थिति में इस तंत्र की कार्यप्रणाली पर विपरीत प्रभाव पड़ता है और शरीर दुर्बल अनुभव करने लगता है। अस्थमा जैसी एलर्जीक बीमारियों की आशंका भी बढ़ जाती है।

दिमाग की कार्यक्षमता घटने लगती है – अच्छी नींद जहाँ दिमाग को स्थिर और तेज़ बनाती है वहीँ बिना नींद की स्थिति में दिमाग के सोचने समझने की क्षमता घटने लगती है, याद रखने में दिक्कत आने लगती है और स्मरण शक्ति स्थायी रूप से कम हो जाने का ख़तरा भी बना रहता है।

स्वभाव में होने वाले बदलाव – नींद नहीं लेने की स्थिति में व्यक्ति में चिड़चिड़ापन और तनाव बढ़ जाता है और दिमाग की कार्यक्षमता घटने से हो सकता है कि व्यक्ति पागल हो जाये। निर्णय लेने में असमर्थता होने लगती है और कुछ दिन नहीं सोने से दुनिया को देखने का नज़रिया बदल जाता है। दुनिया में सबसे ज़्यादा समय तक जागने वाला इंसान 264 घंटे और 11 दिन तक जागा था और उस समय उस व्यक्ति की एकाग्रता और परसेप्शन में दिक्कत पायी गयी लेकिन उसे कोई शारीरिक बीमारी होने की पुष्टि नहीं हुयी।

त्वचा पर पड़ने वाले प्रभाव – नहीं सोने की स्थिति में शरीर में तनाव हॉर्मोन की मात्रा बढ़ने लगती है जिससे त्वचा को लचीला बनाये रखने वाला कोलेजन प्रोटीन टूटने लगता है जिसके कारण चेहरे और त्वचा पर झुर्रियाँ आने लगती हैं।

दुनिया में 100 लोगों में दिमाग की एक ऐसी दुर्लभ बीमारी पायी जाती है जो ना सोने की वजह से होती है, जिसके कारण कुछ वक़्त बाद उस व्यक्ति में पागलपन के लक्षण दिखाई देते है और आगे चलकर उसकी मृत्यु हो जाती है।

विज्ञान के अनुसार लम्बे समय तक नहीं सोने की स्थिति में शरीर और दिमाग काम करना बंद कर देता है। नींद लेना भी हर दिन के एक ज़रूरी काम जितना ही महत्वपूर्ण है इसलिए अगर आप नींद को कम महत्व देकर कई कई दिनों तक सोते नहीं है तो उसके दुष्परिणामों को जान लें और अपनी स्वस्थ दिनचर्या के लिए नींद के लिए भी पर्याप्त समय निकालना शुरू कर दीजिये।

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

“जानिये नींद में क्यों बातें करते हैं लोग”

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment