अलसी क्या है और अलसी का सेवन कैसे करें?

मई 25, 2018

शरीर से जुड़ी बहुत सी समस्याओं को दूर करने में अलसी के बीज काफी अहम भूमिका अदा करते हैं। हम इंसानों द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले सबसे पुराने खाद्य पदार्थों में अलसी के बीज शामिल है जिन्हें आज पूरी दुनिया में अलग-अलग तरीके से अपने आहार में शामिल करके अलसी का सेवन किया जा रहा है।

अलसी के गुणों के बारे में जानकर आप चौंक जाएंगे। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड्स की प्रचुरता होती है। इसके अलावा लिगनन और म्यूसिलेज जैसे पोषक तत्व भी इसमें पाए जाते हैं। अलसी के बीज में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर के साथ-साथ विटामिन बी 1, प्रोटीन, ताम्बा, मैग्नेशियम, मैगनीज, फास्फोरस, जिंक और सेलेनियम भी मौजूद होते हैं।

पीले और गोल्डन ब्राउन कलर में मिलने वाले अलसी के बीज का सेवन साबुत, पाउडर रूप में, तेल या सप्लीमेंट्स के रूप में किया जा सकता है।

अलसी के बीज दिल को स्वस्थ रखते हैं, कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं, मेनोपॉज की मुश्किलों को आसान बनाते हैं। इसके सेवन से वजन कम करना आसान हो जाता है, कैंसर का जोखिम कम करने और डायबिटीज में राहत दिलाने में भी अलसी कारगर साबित होती है। शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालकर इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाये रखने का काम भी अलसी करती है। इतना ही नहीं, चेहरे और बालों से जुड़ी समस्याओं का हल भी अलसी में छिपा है। इसके बीजों में मौजूद फाइबर की प्रचुरता पाचन तंत्र को भी मजबूत बनाए रखती है।

अलसी के ढेरों हैरान करने वाले फायदे हैं लेकिन इससे पूरा फायदा प्राप्त करने के लिए ये जानना जरुरी है कि अलसी का सेवन किस तरह किया जाना चाहिए।

आइये, आपको बताते हैं अलसी का सेवन करने के तरीके –

भुनी हुयी अलसी – अलसी को धीमी आंच पर हल्का सा भून लें। ऐसा करने से इसका स्वाद कुरकुरा और टेस्टी हो जाता है और अलसी खाने का ये तरीका एकदम आसान और उपयोगी है।

गर्म पानी के साथ – अलसी को पीसकर उसका पाउडर बना लें और एक गिलास गर्म पानी के साथ एक चम्मच अलसी के पाउडर का सेवन शुरू कर दें। थोड़ी-थोड़ी अलसी का ही पाउडर बनायें क्योंकि एक साथ ज्यादा पाउडर बना लेने पर ये जल्दी ख़राब हो जाता है।

रोटी के रूप में – अलसी में शुगर की मात्रा बहुत कम और कार्बोहायड्रेट की मात्रा ज्यादा होती है। आटा गूंथते समय पीसी हुयी अलसी को आटे में मिलाकर रोटी या परांठा बनाकर खाएं।

फलों के रस में – अलसी पाउडर को फलों के रस में मिलाकर भी पीया जा सकता है। इसके लिए एक गिलास जूस में एक चम्मच अलसी पाउडर डालकर पी लें।

रायते के रूप में – दही के शौकीन लोग अलसी का रायता बनाकर खा सकते हैं। इसके लिए आप चाहें तो एक कप कसी हुयी लौकी, एक कप दही, आधा चम्मच मोटी पीसी अलसी, आधा चम्मच काला नमक और थोड़ी चीनी डालकर एक घंटे के लिए ठंडा करके सेवन करें।

अलसी की चाय – चाय के शौकीन लोग अलसी का सेवन चाय के रूप में भी कर सकते हैं। इसके लिए दो कप पानी में एक चम्मच अलसी का पाउडर डालकर धीमी आंच पर पकाएं। जब पानी आधा रह जाए तब इसे थोड़ा ठंडा करके,इसमें गुड़ या चीनी मिलाकर सेवन करें। इससे सर्दी-जुकाम और दमा जैसे रोगों में राहत मिलती है।

गर्म दूध में – एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच अलसी का पाउडर मिलाकर पीने से सेरोटोनिन का लेवल बढ़ जाता है जिससे अच्छी नींद आती है।

सलाद के साथ – सलाद में अलसी को शामिल करके सेहत को बहुत फायदा पहुँचाया जा सकता है। इसके लिए सलाद में एक चम्मच भुनी हुयी अलसी का पाउडर मिला लें। इसका इस्तेमाल सब्जी की ग्रेवी में भी किया जा सकता है।

अलसी खाने के तरीकों और अलसी के फायदों को जान लेने के अलावा इससे होने वाले नुकसानों से परिचित होना भी जरुरी है ताकि सेहत का ख़जाना दिखाई देने वाली अलसी से सेहत को कोई नुकसान ना पहुंचें।

इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए कि अलसी का सेवन करने के साथ पानी खूब पीना चाहिए क्योंकि अलसी में फाइबर की बहुत अधिक मात्रा पायी जाती है जो पानी की कमी रहने पर जठरांत्र को नुकसान पहुंचा सकती है।

दोस्तों, अब आप जान चुके हैं कि अगर सही तरीके से अलसी का सेवन किया जाए तो ये किसी चमत्कारिक औषधि से कम नहीं है और अब आप इसे इस्तेमाल करने के तरीके भी जान चुके हैं और इसके सेवन की सीमाओं से भी परिचित हो चुके हैं। ऐसे में आपको भी अपने सेहतमंद आहार में अलसी का स्वाद शामिल कर लेना चाहिए।

किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर ले। हमने आपसे सिर्फ ज्ञानवर्धक जानकारी साझा की है। कोई भी प्रयोग आजमाने से पहले अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल जरूर करे। सदैव खुश रहे और स्वस्थ रहे।

“अलसी के फायदे और औषधीय गुण”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें