एम्बुलेंस पर नाम उल्‍टा क्यों लिखा जाता है?

अक्टूबर 19, 2018

एम्बुलेंस के आगे की तरफ एम्बुलेंस शब्द उल्टा लिखा जाता है। क्या आप जानते हैं एम्बुलेंस पर नाम उल्‍टा क्यों लिखा जाता है? एम्बुलेंस पर नाम उल्‍टा लिखने का भी एक कारण है। दरअसल एम्बुलेंस जब गंभीर रूप से बीमार मरीजों को अस्पताल लेकर जाती है तब ये तेज गति से चलती है ताकि समय रहते मरीज को उपचार मिल सके। ऐसे में एम्बुलेंस पर उल्टा लिखा हुआ ये शब्द इस गाड़ी से आगे चलने वाली गाड़ियों को, उनके पीछे देखने वाले मिरर में सीधा दिखाई देता है जिसे देखने के बाद एम्बुलेंस से आगे चलने वाली गाड़ियां उसे तुरंत रास्ता दे सकें ताकि मरीज को अस्पताल ले जाने में देर ना हो।

एम्बुलेंस के बारे में आप ये जानते हैं कि एम्बुलेंस ऐसी गाड़ी है जो मरीजों को तुरंत अस्पताल ले जाने का काम करती है। एम्बुलेंस ही वो गाड़ी होती है जिसे इमरजेंसी में ट्रैफिक रूल्स फॉलो करने की जरुरत नहीं होती है क्योंकि इसका काम ही समय रहते मरीज को अस्पताल तक पहुँचाना होता है ताकि उसकी जान बचायी जा सके। एम्बुलेंस को भीड़ भरे रास्तों में तुरंत पहचान कर, उसके निकलने के लिए जगह दी जाए, इसके लिए एम्बुलेंस का कुछ अलग दिखना जरुरी होता है और इसलिए दुनिया के देशों में इसे सफेद रंग के अलावा लाला, पीले और नारंगी जैसे चमकीले रंगों में बनाया जाता है ताकि दूर से ही इसे देखा जा सके और इसे रास्ता दिया जा सके।

एम्बुलेंस की आवाज़ उसका इलेक्ट्रॉनिक सायरन होता है और एम्बुलेंस में सायरन के अलावा फ्लैशिंग लाइट, स्पीकर, रेडियो फोन और ऐसे कई उपकरण होते हैं जिनके जरिये सड़क पर इस गाड़ी के निकलने के लिए रास्ता छोड़ने की सूचना दी जा सके। शुरू के सायरन हवा के दबाव से चला करते थे और बहुत पहले सिर्फ घंटियां बजाकर ही एम्बुलेंस की सूचना दी जाती थी।

दोस्तों, उम्मीद है कि ये जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी और आप भी रास्ते में मिलने वाली एम्बुलेंस को तुरंत रास्ता देकर बहुत से मरीजों की जान बचाने में मदद करेंगे।

“हाइब्रिड कार क्या है?”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें