आनंद कुमार को कौन नहीं जानता? आनंद कुमार और सुपर 30 एक दूसरे के पूरक हैं। अपने ‘सुपर 30’ जैसे महान मिशन के ज़रिये बिहार के आनंद कुमार ने आर्थिक रूप से कमज़ोर तबके के बच्चों के सपनों को साकार रूप दिया है। गरीब लेकिन होशियार बच्चों को मुफ्त में पढ़ाकर, उनका आईआईटी में सलेक्शन करवाने वाले आनंद कुमार अब अपने सुपर 30 का विस्तार कर रहे हैं। अभी तक इस संस्थान में 12वीं पास करने के बाद ही एडमिशन मिला करता था लेकिन अब 10वीं पास बच्चे भी इसका हिस्सा बन सकेंगे।

Today's Deals on Amazon

सुपर 30 संस्थान में इस साल से 10वीं पास 10-20 स्टूडेंट्स को, नए प्रोग्राम के तहत एडमिशन दिया जाएगा। इसके अलावा 12वीं पास स्टूडेंट्स के लिए पहले की तरह ही प्रोग्राम चलता रहेगा।

इसके अलावा इंस्टिट्यूट की वेबसाइट पर लेक्चर्स भी अपलोड किये जाएंगे। आनंद कुमार का कहना है कि क्लासरूम में की गयी पढ़ाई सबसे बढ़िया होती है लेकिन ऑनलाइन लेक्चर्स मिलने से बहुत सारे स्टूडेंट्स को फायदा मिल सकेगा।

गरीब तबके के बच्चों के लिए स्कूल खोलने की योजना भी आनंद कुमार बना रहे हैं। उनके इस स्कूल में क्लास 6 से 12 तक की पढ़ाई कराई जाएगी। आनंद कुमार के इस महान प्रयासों से प्रेरित होकर बहुत से संस्थान अब सुपर 30 के पैटर्न पर चलने लगे हैं।

ऐसे में ये उम्मीद की जा सकती है कि बहुत जल्द वो समय भी आ जाएगा जब बच्चों के सपने पूरा करने की राह में उनकी आर्थिक स्थिति रोड़ा नहीं बन पाएगी क्योंकि तब तक आनंद कुमार अपने सुपर 30 का दायरा बहुत बढ़ा चुके होंगे और बहुत से लोग उनका अनुसरण करते हुए बच्चों को मुफ्त शिक्षा देने के लिए और भी ज़्यादा तेज़ी से प्रयासरत हो जाएंगे। आप चाहे तो इस ओर एक छोटा-सा कदम आप भी बढ़ा सकते हैं।

“मुरलीकांत पेटकर कौन है?”

Featured Image Source