अंतरिक्ष में जाने वाला पहला पशु

रहस्य और रोमांच से भरे अंतरिक्ष को करीब से देखने-जानने का हैरतअंगेज़ कारनामा केवल इंसानों ने ही नहीं किया है बल्कि जानवर भी इसमें पीछे नहीं रहे हैं। अंतरिक्ष में सबसे पहले जाने का साहस एक मादा श्वान ने दिखाया था। ऐसे में अंतरिक्ष की इस सैर के बारे में जानना आपके लिए भी रोमांचक हो सकता है इसलिए क्यों ना आज इसी बारे में बात की जाए। तो चलिए, आज जानते हैं अंतरिक्ष में जाने वाला पहला पशु कौन था।

रुस की मादा श्वान लाइका ही वो पशु रही जो सबसे पहले अंतरिक्ष की अनोखी दुनिया में पहुंची। 1957 में लाइका को स्पूतनिक 2 यान में सवार करके अंतरिक्ष की यात्रा पर भेजा गया। इस यात्रा के दौरान यान ने पृथ्वी के 2570 चक्कर लगाए थे।

इस ऐतिहासिक और रोमांच से भरे सफर का एक हिस्सा दुखद भी था क्योंकि लाइका को स्पेस में भेजा तो गया लेकिन वो जिन्दा वापिस नहीं आ सकी।

विमान का तापमान इतना बढ़ गया था कि उड़ान के चौथे सर्किट तक लाइका की मौत हो गयी। 14 अप्रैल 1958 को स्पूतनिक-2 लाइका के अवशेष के साथ लौटने पर टुकड़ों में बंट गया।

इस यान में तकनीकी खामियां थी जिसके चलते ये यान अंतरिक्ष में पहुँच तो गया लेकिन सुरक्षित वापिस लौटने के लिए पूरी तरह से तैयार नहीं किया गया।

इस अंतरिक्ष मिशन के बाद इस पर बहस छिड़ी कि विज्ञान में जानवरों पर स्पेस परीक्षण किये जाने चाहिए या नहीं। इस मिशन के बहुत साल बाद 2008 में रुस ने लाइका को श्रद्धांजलि देते हुए उसके लिए एक स्मारक बनाया जिसमें एक कुत्ता रॉकेट के शीर्ष पर बैठा हुआ दिखाई दिया।

इस अंतरिक्ष मिशन ने लाइका का नाम भी इतिहास के पन्नों में दर्ज कर दिया।

उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आई होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

“आँख का वजन कितना होता है?”