असफलता को सफलता में कैसे बदलें

यूँ तो हर व्यक्ति सफल होना चाहता है और अपने भरपूर प्रयास भी करता है लेकिन जरुरी नहीं है की सभी को सफलता मिले। कुछ लोग मेहनत करने के बाद भी असफल हो जाते हैं तो कुछ असफल होने के बाद प्रयास छोड़ देते हैं। कई बार हम मेहनत तो करते हैं लेकिन सही दिशा में और सही तरीके से नहीं करते जिस कारण हमे असफलता मिलती है। कई बार हम सही रास्ता तो चुनते हैं लेकिन हम साथ में कई ऐसे नकारात्मक काम भी करते हैं जो हमे सफल नहीं होने देते। तो आइये आज हम आपको बताते हैं अपनी असफलता को सफलता में कैसे बदलें।

असफलता पर विचार करें – आपने जितने भी सफल लोगों की कहानी सुनी है उसमे एक बात गौर करने वाली है और वो ये की उन सभी लोगों ने कई बार असफलता का सामना किया है। लेकिन सफल वही होता है जो अपनी असफलताओं को निराशा में ना बदलकर उसके पीछे की कमियों को खोज कर उन पर विचार करता है और उन्हें भविष्य के लिए एक सबक मानकर सकारात्मक तरीके से आगे बढ़ता है।

खुद की कमजोरियां पहचानें और सुधारें – हमारे विचारों में एक तरह की चुम्बकीय शक्ति होती है और जब हम खुद को हारा हुआ मान लेते हैं तो हम नकारात्मक विचारों की चपेट में आ जाते हैं जो हमे कभी सफलता के रास्ते पर नहीं ले जाते। ऐसे में आप हमेशा खुद की कमज़ोरियां पहचाने और खुद ही से विचार कर उनको सुधारें ताकि आपको एक आत्म बल मिलेगा और भविष्य में गलतियां होने की सम्भावना कम होगी जिसके परिणाम भी बेहतर होंगे।

किस्मत को कोसना बंद करें – यह असफल लोगों को सबसे बड़ी निशानी होती है की वो अपनी गलतियों को नजरअंदाज करते हुआ अपनी असफलता का दोष हमेशा अपनी किस्मत को देते हैं लेकिन ये आदत कभी हमे सफल होने के लिए प्रेरित नहीं करती बल्कि ये हमारी कमजोरी बनती है जिससे हम मेहनत करना छोड़ देते हैं और हमे लगातार असफलता का ही सामना करना पड़ता है।बेहतर होगा आप हमेशा मेहनत और ईमानदारी से अपने काम करते जाएँ देर से सही लेकिन सफलता जरूर मिलेगी।

जिम्मेदारी स्वीकार करें – जब भी कभी असफल हों तो उसका जिम्मेदार किसी और को ना ठहराएं बल्कि अपनी जिम्मेदारी खुद स्वीकार करें क्योंकि आपने जो भी किया है उसमे आपकी ही सहभागिता रही है तो उसके जिम्मेदार भी आप ही हैं ऐसे में अपनी गलतियों पर विचार करें और उन्हें सुधारें।

खुद पर भरोसा रखें – असफलता के दौर में जीवन में निराशा होना स्वाभाविक है लेकिन इस निराशा को अपने ऊपर हावी ना होने दें और हमेशा खुद पर भरोसा रखें की आप हर समस्या का हल निकाल कर सफलता जरूर पाएंगे और कुछ को विश्वास दिलाएं की आप हार को जीत में बदलने की क्षमता रखते हैं इससे आपमें आत्मविश्वास बढ़ेगा और आप ज्यादा ऊर्जा से काम को अंजाम देंगे।

भविष्य के बारे में सोचे – किसी भी काम को करने से पहले भविष्य के बारे में अच्छे से विचार करें की इस काम का भविष्य में क्या परिणाम होगा और अगर क्या आप अपने काम में सफल हो पाएंगे और क्या इससे आप अपने लक्ष्य को पा सकेंगे। अगर सभी विचारों के बाद आपको लगता है की आपको आगे बढ़ना चाहिए तो आप पूरी मेहनत और निष्ठा से आगे बढ़ें आपको सफलता जरूर मिलेगी।

“बोलने की कला दिलाती है सफलता, ऐसे सीखे बोलने की कला”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।