औरतों के लिए सुरक्षित नहीं है भारत के ये शहर

456

नेशनल क्राइम ब्यूरो की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत के कुछ ऐसे शहर है जहां महिलाएं असुरक्षित हैं क्योंकि यहां महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध अपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं। आइये आपको बताते हैं भारत के इन शहरों के बारे में जो महिलाओं के लिए बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं माने जाते!

दुर्ग-भिलाई, छत्तीसगढ़

दुर्ग-भिलाई दोनों शहरों के सम्मिलित आंकड़ों की बात करें तो इन शहरों में क्राइम रेट 16.4 है जबकी यहाँ बलात्कार की दर 7.9 है।

नागपुर, महाराष्ट्र

महाराष्ट्र के नागपुर शहर में भी महिलाओं से होने वाले कई आपराधिक मामले दर्ज किए जाते हैं। यहां हिंसक अपराध की दर 15.7 है जबकि बलात्कार की दर 6.6।

भोपाल, मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश का भोपाल शहर भी महिलाओं के लिए पूरी तरह से सुरक्षित नहीं माना जा सकता। यहां अपराध की दर 17.1 है जबकि यहां पर बलात्कार की दर 7.1 है।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश का ग्वालियर शहर भी उन शहरों में से एक है जहां महिलाओं का रहना कई मामलों में असुरक्षित है। यहां हिंसक अपराध की दर 17.1 है जबकि बलात्कार की दर यहां पर 10.4 है।

दिल्ली

भारत की राजधानी दिल्ली के आंकड़े सभी को चौकाने वाले हैं। दिल्ली में आए दिन बलात्कार और महिलाओं से होने वाले हिंसक मामलों की खबरें सामने आती रहती हैं। साल 2015 की बात करें तो यहां 1893 रेप केस दर्ज किए गए जबकि 4563 हिंसक मामले दर्ज हुए। यहां बलात्कार की दर 11.6 है जबकि हिंसा की दर 28 है।

जोधपुर

राजस्थान का किलो का शहर कहा जाने वाला जोधपुर यूं तो कई मामलों में खास है और यहां पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है लेकिन अगर यहां रहने वाली महिलाओं की बात करें तो यह शहर उनके लिए आसान नहीं है। यहां यौन हिंसा, महिला उत्पीड़न और बलात्कार जैसे कई मामले सामने आते रहते हैं। यहां बलात्कार की दर है 13.4 जबकि हिंसा की दर यहां 38.7 है।

“महिला दिवस – नारी का स्वरूप”
“दुनिया की 10 सबसे खतरनाक जगहें जो किसी नर्क से कम नहीं”
“बंद हो सकता है तीन तलाक का नियम”
“भगवान कृष्ण से जुड़े कुछ ऐसे तथ्य जो हर कोई नहीं जानता”

Add a comment