कुछ खास बातें जो बच्चों के दिमागी विकास में हैं मददगार

0

यूँ तो आजकल के बच्चे बेहद तेज होते हैं लेकिन बिगड़े लाइफस्टाइल, खानपान और बुरी आदतों के चलते बच्चों में दिमाग का विकास घटने लगा है और ऐसे में आईक्यू लेवल भी कम होने लगा है। आइये आज आपको कुछ खास बाते बताते हैं जो बच्चों के दिमागी विकास और बच्चों को बुद्धिमान बनाने में मददगार साबित होंगी।

सिगरेट से दूरी – आजकल कम उम्र के नौजवानों को सिगरेट की लत लग गई है, युवाओं के लिए सिगरेट एक फैशन बन गया है। 18 से 21 साल के 20,000 युवाओं पर जब एक सर्वे किया गया तो उसमे पाया गया की जो सिगरेट पीने के आदि हैं उनका औसत आईक्यू 90 था जबकि इनमे से जो सिगरेट नहीं पीते उन बच्चों का आईक्यू 94 पाया गया। ऐसे में ये साबित होता है की बच्चों को सिगरेट से दूर रखना उन्हें बुद्धिमान बनाने में सहायक है।

संगीत सीखना – एक सर्वे में पाया गया की जो बच्चे संगीत सीखते हैं या थियेटर जैसी गतिविधियों का हिस्सा बनते हैं उनका आईक्यू दूसरे बच्चों की तुलना में बहुत ज्यादा होता है। इस सर्वे में जब 4-6 साल के बच्चों को सर 1 महीना संगीत सिखाया गया तो उनके आईक्यू में बढ़ोतरी देखी गई।

पहली संतान को फायदा – अक्सर यह देखा गया है की पहली संतान का आईक्यू लेवल बाकी बच्चों की तुलना में थोड़ा ज्यादा होता है और एक सर्वे में भी यही बात सामने आयी है। हालाँकि इसके पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है बल्कि ऐसा बच्चे और माता पिता के आपसी संबंधों और व्यव्यहार पर निर्भर होता है। अक्सर देखा जाता है की हम पहली संतान को हमेशा यही सीख देते हैं की अपने से छोटे बच्चों का ख्याल रखो क्योंकि तुम बड़े हो ऐसे में उस पर हमेशा बड़ों जैसी जिम्मेदारियां बनी रहती है इस ये भी एक कारण है उनका आईक्यू दूसरे बच्चों की तुलना में ज्यादा होता है।

बिल्ली पालें – एक सर्वे में पाया गया है की जो लोग ज्यादा सामाजिक होते हैं उनके मुकाबले घर पर समय व्यतीत करने वाले लोगों का आईक्यू लेवल थोड़ा ज्यादा होता है और इसी से जुड़े इस सर्वे में ये बात सामने आई की घर में कुत्ता पालते वाले लोगों को अक्सर उन्हें टहलाने के लिए बाहर ले जाना पड़ता है ऐसे में वो लोग ज्यादा सामाजिक होते हैं जबकि जो लोग बिल्ली पालते हैं वो अक्सर घर पर ही अपना खाली समय व्यतीत करते हैं क्योंकि बिल्ली को बाहर घुमाने की आवश्यकता नहीं होती ऐसे में वो घर पर किताबें पढ़ना पसंद करते है जिससे उनका आईक्यू लेवल बढ़ता है।

मां का दूध – यूँ तो आपने हमेशा सुना ही होगा की बच्चे के लिए मां के दूध से बढ़कर कोई पौष्टिक आहार नहीं है लेकिन एक शोध में पाया गया है की माँ का दूध बच्चों के दिमागी विकास के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है।

बायां हाथ काम में लेने वाले लोग – एक शोध में ये बात सामने आई है की जो लोग बाएं हाथ से लिखने पढ़ने और दूसरे काम करते हैं उनका आईक्यू लेवल बाकी लोगों की तुलना में ज्यादा होता है।

कद – यह बात थोड़ी अटपटी है लेकिन एक शोध में ये बात सामने आयी है की जो बच्चे लम्बे कद के होते हैं उनका आईक्यू लेवल छोटे कद के बच्चों की तुलना में ज्यादा होता है।

“इन आसान तरीकों से बढ़ाएं अपने बच्चों का आत्मविश्वास”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here