आइये जानते हैं बादाम को रात में कितने घंटे भिगोकर रखना चाहिए। आपने ये जरूर सुना होगा कि बादाम को रात में भिगोकर खाया जाये तो इसका पूरा पोषण हमें मिल जाता है। आइये, इसका कारण जानते हैं।

बादाम में टैनिन एन्ज़ाइम पाया जाता है जो बादाम के इतने सारे पोषक तत्वों को शरीर में अवशोषित नहीं होने देता है इसलिए अगर आप चाहते हैं कि बादाम का पूरा पोषण आपके शरीर को मिले तो बादाम को रात में भिगोकर अगली सुबह खाएं। बादाम को भिगोने से उसका छिलका भी नरम हो जाता है जिसे आसानी से उतारा जा सकता है।

बादाम को रात में कितने घंटे भिगोकर रखना चाहिए? 1

बादाम को रात में कितने घंटे भिगोकर रखना चाहिए?

बादाम को लगभग 8 घंटे के लिए भिगोना चाहिए और अगली सुबह खाली पेट भीगे बादाम खाने से पेट में बनने वाला हाइड्रोक्लोरिक एसिड रेगुलेट हो जाता है जिससे एसिडिटी में भी राहत रहती है और पेट में प्रोटीन का पाचन भी आसानी से होने लगता है।

बादाम जैसे ड्राई फूड को अपनी सुबह का हिस्सा बनाने वाले लोग स्वस्थ रहते हैं और एक रिसर्च के अनुसार, रोज़ बादाम खाने वालों की उम्र, बादाम नहीं खाने वालों से 20% ज्यादा होती है।

ऐसे में बादाम खाना बहुत फायदे का सौदा नज़र आता है। इसमें फाइबर, प्रोटीन, विटामिन-ई, कैल्शियम, जिंक, फॉस्फोरस और मैग्नेशियम जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो हमारी सेहत को इस तरह फायदा पहुँचाते हैं।

  • कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं
  • दिमाग को तेज़ बनाते हैं
  • दिल को मजबूती प्रदान करते हैं
  • हड्डियों को मजबूत बनाते हैं
  • डायबिटीज को नियंत्रित रखते हैं
  • वजन कम करने में मदद करते हैं
  • दांतों को मजबूत बनाते हैं
  • ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करते हैं
  • प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं
  • भूख को नियंत्रित करते हैं
  • पाचन तंत्र को मजबूत बनाते हैं
  • त्वचा और बालों को मजबूती प्रदान करते हैं
  • गर्भवती महिलाओं की सेहत को फायदा पहुँचाते हैं

बादाम अपने आप में गुणों की खान है लेकिन अगर आप इस ख़ान का पूरा फायदा उठाना चाहते हैं तो भीगे बादाम का छिलका उतारकर रोज सुबह खाएं।

उम्मीद है जागरूक पर बादाम को रात में कितने घंटे भिगोकर रखना चाहिए कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिनचर्या कैसी होनी चाहिए?

जागरूक यूट्यूब चैनल