पेशाब का बार-बार आना नहीं है सामान्य

शरीर के बाकी सभी कार्यों की तरह ही, यूरिन बनना और उसका शरीर से बाहर निकलना भी बहुत ज़रूरी कार्य होता है। सामान्य रूप से यूरिन की मात्रा एक व्यक्ति में 700 मिली. से 3 लीटर प्रतिदिन तक होती है यानी दिन में 4 से 6 बार पेशाब जाना सामान्य होता है। लेकिन अगर हर 2 घंटे में या उससे कम समय में यूरिन आने लगे तो इसे सामान्य स्थिति नहीं समझना चाहिए। ऐसे में अगर ये जान लिया जाए कि बार-बार पेशाब आने के कारण क्या हैं और इस समस्या को कैसे दूर किया जा सकता है तो आपके लिए ये जानकारी फायदेमंद साबित हो सकती है। तो चलिए, आज हम इसी बारे में बात करते हैं –

बार-बार पेशाब आने के कारण-

  • इसका सबसे बड़ा कारण हो सकता है मूत्राशय का ज़्यादा सक्रिय होना। ऐसी स्थिति में बार-बार पेशाब आने लगता है।
  • अगर प्रोस्टेट ग्लैंड बढ़ जाए तो भी ये समस्या उत्पन्न हो जाती है।
  • अगर यूरिनल ट्रैक्ट में इन्फेक्शन हो जाए तो भी इस समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसा होने पर बार-बार पेशाब आने के साथ पेशाब में जलन भी होती है।
  • बार-बार पेशाब आने का एक और अहम कारण डायबिटीज से जुड़ा होता है। जब ब्लड और शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है तो ये समस्या आने लगती है।
  • किडनी में इन्फेक्शन होने की स्थिति में भी पेशाब बार-बार आने लगता है, ऐसे में बिना देरी किये जांच करवानी चाहिए।

बार-बार पेशाब आने की समस्या को दूर करने के उपाय–

  • बार-बार पेशाब आने की समस्या के चलते पानी पीना ना छोड़ें क्योंकि पर्याप्त मात्रा में पानी पीना बेहद ज़रूरी है ताकि किसी प्रकार का इन्फेक्शन होने की स्थिति में, पेशाब के जरिये उसे बाहर निकाला जा सके और आगे चलकर, आपको फिर से इस समस्या से जूझना ना पड़े।
  • सूखे आंवले को पीसकर इसका चूर्ण बना लें और इसमें गुड़ मिलाकर खाएं। आंवले के साथ-साथ विटामिन-सी से भरपूर अन्य चीज़ें खाने से भी आपको काफी राहत मिलेगी।
  • पालक, अलसी, मेथी की सब्जी और तिल जैसी चीज़ों का रोज़ाना सेवन करने से भी इस समस्या से निजात मिलने लगता है।
  • अनार के छिलकों को सुखाकर, पीसकर इसका चूर्ण बना लें और हर दिन सुबह और शाम इस चूर्ण को पानी के साथ लें। चूर्ण की जगह आप इसका पेस्ट भी बना सकते हैं।
  • अंकुरित अनाज खाने से भी ये समस्या कम होने लगेगी और अंकुरित अनाज से मिलने वाले ढ़ेरों फायदे भी शरीर को मिल जाएंगे।
  • गाजर का जूस और अनार का रस भी राहत पहुंचाने का काम करेंगे।
  • मसूर की दाल खाने से भी बार-बार पेशाब आने की परेशानी कम होने लगती है।
  • दही, अंगूर जैसी चीज़ें अपने आहार में शामिल करके आप इस मुश्किल को कम कर सकते हैं।

इस तरह अपने आहार में कुछ चीज़ों को शामिल करके और पानी की पर्याप्त मात्रा पीकर आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं लेकिन इसे मामूली समस्या समझने की भूल ना करें और अपने डॉक्टर से जरूर परामर्श करें ताकि आपके शरीर को लम्बे समय तक परेशानी ना उठानी पड़े।

हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“पेशाब से बदबू आने के मुख्य कारण”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।