कलौंजी है गुणों की ख़ान – जानिए कलौंजी के फायदे

1842

भारतीय मसालों की सूची में कलौंजी का नाम भला कौन नही जानता, दिखने में तो यह बिल्कुल काली होती है लेकिन इसके गुण हजारों है। आयुर्वेद में तो कलौंजी को जड़ी-बूटी के रूप में माना जाता है। कई बिमारियों में इसका सेवन अत्यंत लाभकारी है। पैगंबर हजरत मुहम्मद साहब ने तो यहाँ तक कहा कि मौत को छोड़ दिया जाये तो हर बिमारी का उपचार संभव है इससे। लगभग 1400 वर्षो से इसका उपयोग हो रहा है। घरेलू उपचार के साथ-साथ अब इसका उपयोग दवाइयों में भी हो रहा है।

इसका तेल भी उतना ही लाभकारी है। कई योगिकों से मिलकर बनती है कलौंजी जैसे :- क्रूड फाइबर, निगोलोन, एमिनो एसिड्स, प्रोटीन, फेटी एसिड्स, आयरन, सोडियम, फाइबर, केल्सियम आदि। अध्ययन के अनुसार, पेट की चर्बी, वजन घटाना, मधुमेह, उच्च रक्तचाप जैसी कई तकलीफ़ों को कम करने में इसका सेवन लाभकारी है।

इसको अग्रेंजी भाषा में ”निजेला सेटाइवा” के नाम से जाना जाता है।

गुणकारी कलौंजी का उपयोग कैसे करे आइये कुछ उपायों से जाने।

1. मधुमेह से बचाव – सुबह उठने के बाद व रात को सोने से पहले एक कप काली चाय में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिला कर एक महीने तक पीने से मधुमेह से राहत मिलती है।

2. कब्ज – दस बूँद कलौंजी का तेल और एक टी-स्पून केस्टर ओयल को गर्म दूध में मिलाकर पिएं, कब्ज से आराम आयेगा।

3. कील-मुहाँसो में – आधा चम्मच कलौंजी के तेल में दो चम्मच नींबू का रस मिलाकर लेप बना ले और सुबह-शाम चेहरे पर लगाएं। इससे चेहरे पर निखार तो आयेगा ही साथ ही कालें दाग-धब्बे भी हट जायेंगे।

4. पेट में कीड़े होने पर – कलौंजी का तेल छोटा आधा चम्मच और एक चम्मच सिरका को आपस में मिलाकर दिन में दो से तीन बार दस दिनों तक ले, इस दौरान मीठा ना खाएं।

5. कान दर्द – कलौंजी के तेल को और ऑलिव ओयल को बराबर मात्रा में मिलाकर हल्का गर्म करके कुछ बूंदे कान में डालें, आराम मिलेगा।

6. दिमाग तेज करे – दस ग्राम पुदीने की पत्तियों और आधा चम्मच कलौंजी के तेल को पानी के साथ उबाले और दिन में दो बार नियमित तौर पर 20-25 दिनों तक ले और फ़ायदा देखे।

7. वज़न घटाने में – चार-पाँच कलौंजी के दानों को पीस ले फिर इस चूर्ण को आधा नींबू और एक छोटा चम्मच शहद के साथ एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर रोज पिएं। वजन कम होने के साथ-साथ पेट की चर्बी भी कम होगी।

8. अस्थमा का उपाय – एक कप गर्म पानी में एक छोटा चम्मच शहद व आधा छोटा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सुबह-शाम पिएं। अस्थमा हो या किसी भी तरह की साँस की तकलीफ़ हो फायदा मिलेगा। इस उपाय से कफ और एलर्जी से भी आराम मिलता है।

9. दिल को रखे दुरुस्त – एक कप बकरी के दूध में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सात दिनों तक पीनें से हृदय मजबूत होता है और हार्ट-अटैक की समस्या भी कम हो जाती है।

10. घुटनों का दर्द – एक कप सिरका, दो चम्मच शहद और आधा चम्मच कलौंजी का तेल आपस में मिलाकर दिन में दो बार हाथों से हल्की मालिश करते हुए लगाएं, घुटनों के दर्द से राहत मिलेगी।

11. कैंसर से सुरक्षा – आधा चम्मच कलौंजी तेल में एक कप अंगूर का रस मिलाकर दिन में तीन बार पिएं इससे ब्लड कैंसर, गले और आँतों का कैंसर होने की संभावना भी बहुत कम हो जाती है।

12. थकान करे दूर – एक गिलास संतरे के जूस में आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर रोजाना एक बार पिएं आपके शरीर से थकान, कमजोरी सब गायब हो जायेगी और शरीर में ताकत व स्फूर्ति आ जायेगी।

फटी एडियाँ, पेट दर्द, सौंदर्य में, सर्दी-खाँसी, किडनी में स्टोन ना बने, उच्च रक्तचाप, आँखों की रोशनी, सिर दर्द, नकलोई आदि कई समस्याओं का इलाज इससे संभव है।

हमारा उद्देश्य आपका सामान्य ज्ञान बढ़ाना है। पुर्ण रूप से आप इसका लाभ उठा पाएं उसके लिए आप अपने चिकित्सक से सलाह ज़रूर ले। हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“रोज़ाना सुबह खाली पेट गुनगुना नींबू पानी पीने से होते हैं ये 8 फायदे”
“त्रिफला के हैरान कर देने वाले फायदे”
“कच्चा केला खाने से होते हैं ये फायदे”
“सिगरेट छोड़ने से आपको होते हैं ये बड़े फायदे”

Add a comment