भारत का राष्ट्रीय गीत

भारत का राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम्’ भारत की आजादी का मंगल गीत रहा है जिसने बहुत जल्द देशप्रेमियों की जुबान पर चढ़कर भारत माता की जय जयकार की है।

ऐसे में भारत के इस महान राष्ट्रीय गीत से जुड़ी कुछ ख़ास बातें आपको भी जरुर जाननी चाहिए इसलिए आज बात करते हैं भारत के राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम्’ की।

भारत का राष्ट्रीय गीत 1

भारत का राष्ट्रीय गीत

भारत के राष्ट्रीय गीत की रचना बंकिम चंद्र चटोपाध्याय ने उस दौर में की, जब भारत अंग्रेजों के अधीन था और भारत के हर समारोह में ‘गॉड सेव द क्वीन’ गीत गाना अनिवार्य था। इस आदेश से आहत होकर 7 नवम्बर 1876 को बंगाल के कांतल पाड़ा गाँव में बंकिम चंद्र चटोपाध्याय ने ‘वंदे मातरम्’ गीत की रचना की।

इस गीत को बंकिमचंद्र चटोपाध्याय ने 1882 में अपने उपन्यास ‘आनंद मठ’ में शामिल किया। आनंद मठ देशभक्ति की भावना से भरपूर एक राजनीतिक उपन्यास था जिसका आदर्श वाक्य ‘ओम वंदे मातरम्’ था।

बंकिमचंद्र ने संस्कृत और बांग्ला के मिश्रण से इस गीत की रचना की और इसे ‘वंदे मातरम्’ शीर्षक दिया। इस गीत के शुरुआती दो पद संस्कृत में थे और बाकी पद बांग्ला भाषा में थे।

इस गीत का अंग्रेजी अनुवाद सबसे पहले अरविन्द घोष ने किया और उर्दू में अनुवाद आरिफ मोहम्मद खान ने किया था। 1906 में ‘वंदे मातरम्’ गीत को देवनागरी लिपि में प्रस्तुत किया गया।

1896 में पहली बार ये गीत बंगाली शैली में लय और संगीत के साथ कलकत्ता के कांग्रेस अधिवेशन में प्रस्तुत किया। बंग भंग आंदोलन में ‘वंदे मातरम्’ राष्ट्रीय नारा बना।

दिसम्बर 1905 में कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक में इस गीत को राष्ट्रीय गीत का दर्जा दिया गया। 15 अगस्त 1947 की रात को संविधान सभा की पहली बैठक की शुरुआत ‘वंदे मातरम्’ से हुयी थी और समापन ‘जन गण मन’ से हुआ था और साल 1950 में ‘वंदे मातरम्’ को आधिकारिक रुप से राष्ट्रीय गीत का दर्जा दिया गया।

भारत के इस राष्ट्रीय गीत को विवादों का सामना भी करना पड़ा। इस गीत का चयन राष्ट्रगान के रुप में हो सकता था लेकिन कुछ मुसलमानों के विरोध करने के कारण इसे राष्ट्रगान नहीं बनाया गया, हालाँकि इसका दर्जा राष्ट्रगान के समकक्ष ही रखा गया है।

मुसलमानों का कहना था कि इस गीत में माँ दुर्गा की वंदना की गयी है और उन्हें ही राष्ट्र के रुप में देखा गया है और इस्लाम के अनुसार किसी व्यक्ति या वस्तु की पूजा करना अनुचित माना जाता है।

उम्मीद है जागरूक पर भारत का राष्ट्रीय गीत कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल