भारत की सबसे प्रभावशाली महिलाएं

दिसम्बर 3, 2017

भारत की ऐसी अनेक महिलाएं हैं जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्र में नए मुकाम हासिल किये हैं और अपनी पहचान बनायी है। क्षेत्र चाहे राजनीति का हो या फिर खेल, बिजनेस या समाजसेवा का हो, ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जो महिलाओं की प्रतिभा से अनछुआ रहा हो। ऐसे में क्यों ना आज बात की जाये ऐसी ही कुछ महान और प्रभावशाली भारतीय महिलाओं की, जो ना केवल महिलाओं के लिए बल्कि देश के हर वर्ग के लिए मिसाल बनी हैं और नए मुकाम हासिल करने की प्रेरणा देती हैं। तो चलिए, आज जानते हैं ऐसी ही कुछ प्रभावशाली महिलाओं के बारे में –

सोनिया गाँधी – यूपीए अध्यक्ष सोनिया गाँधी भारत की राजनीति में एक प्रभावशाली व्यक्तित्व के रूप में पहचानी जाती हैं। फोर्ब्स मैगज़ीन ने सोनिया गांधी को देश की सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में शामिल किया है। इटली की मूल निवासी सोनिया गाँधी ने मुश्किल हालातों में कांग्रेस की बागडोर संभाली और इस पार्टी को शिखर तक पहुंचाया।

इरोम शर्मीला – मणिपुर की सामाजिक कार्यकर्ता इरोम चानू शर्मीला ‘आयरन लेडी’ के नाम से पहचानी जाती हैं। ये सैन्य बल विशेषाधिकार कानून को हटाने की मांग को लेकर साल 2000 से भूख हड़ताल पर रहीं। 2 नवंबर 2000 को इम्फाल घाटी के मालोम में असम राइफल्स के साथ मुठभेड़ में दस लोग मारे गए, जिसके विरोध में इरोम शर्मीला ने 16 साल तक चलने वाली भूख हड़ताल शुरू की।

सुनीता विलियम्स – भारतीय मूल की दूसरी महिला, जो अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के माध्यम से अंतरिक्ष में गयी। इतना ही नहीं, सुनीता विलियम्स ने एक महिला अंतरिक्ष यात्री के रूप में 195 दिनों तक अंतरिक्ष में रहने का विश्व कीर्तिमान भी बनाया है।

किरण बेदी – भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी बनने का श्रेय किरण बेदी को जाता है जिन्होंने अपने पद पर रहते हुए अपनी कुशलता और ईमानदारी से मिसाल कायम की। इन्होंने समाज को नयी दिशा दिखाने का जिम्मा भी लिया और रिटायरमेंट के बाद भी समाज सेवा में जुट गयी। लोकपाल बिल से जुड़े आंदोलन में किरण बेदी, अन्ना हज़ारे और अरविन्द केजरीवाल के साथ कई धरने और प्रदर्शनों में शामिल भी हुयी।

एमसी मैरीकॉम – मुक्केबाज़ी में भारत का नाम ऊँचा करने वाली मैरीकॉम मणिपुर की निवासी हैं जिन्होंने लगातार पांच बार विश्व मुक्केबाज़ी चैंपियनशिप को जीता और अर्जुन पुरस्कार, पद्मश्री और राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार जैसे सम्मान अपने नाम किये। लंदन ओलम्पिक में कांस्य पदक जीतने वाली मैरीकॉम सभी के लिए एक मिसाल हैं।

चंदा कोचर – राजस्थान के जोधपुर में जन्मी चंदा कोचर आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक और सीईओ हैं जिन्हें अमेरिकी बिजनेस पत्रिका फोर्ब्स ने एशिया की शीर्ष महिला व्यापारियों की सूची में शामिल किया। बैंक को नयी ऊंचाइयों तक पहुंचाने का श्रेय इन्हें जाता है। मैनेजमेंट ट्रेनी की पोस्ट से बैंक के सबसे ऊँचे पद तक पहुंचने वाली चंदा कोचर महिला सशक्तिकरण का एक बेमिसाल उदाहरण हैं।

मेधा पाटकर – ‘नर्मदा घाटी की आवाज़’ के रूप में पूरी दुनिया में जानी जाने वाली शख्सियत हैं मेधा पाटकर जो गाँधीवादी विचारधारा से प्रभावित हैं और इन्होंने ‘सरदार सरोवर परियोजना’ से प्रभावित होने वाले करीब 37 हज़ार गांवों के लोगों के अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी है। महेश्वर बांध के विस्थापितों के आंदोलन का नेतृत्व भी इन्होंने किया है और सामाजिक अध्ययन के क्षेत्र में गहन शोध करने वाली मेधा पाटकर सादा जीवन जीने में यकीन रखती हैं।

एकता कपूर – टेलीविज़न की दुनिया को बदलने वाली एकता कपूर को ‘टीवी क्वीन’ कहा जाता है। बालाजी प्रोडक्शन कंपनी की हेड एकता कपूर फिल्मों का निर्माण भी करती हैं और इनके द्वारा मनोरंजन के क्षेत्र में किया गया काम बेमिसाल है और बेहद सराहनीय भी।

रेणुका रामनाथ – 2013 की फोर्ब्स एशिया की टॉप 50 महिला उद्यमियों की सूची में जिन 8 भारतीय महिलाओं को शामिल किया गया, उनमें एक नाम रेणुका रामनाथ का भी था। बिजनेस में अपने बेहतरीन प्रदर्शन से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में अपनी अलग पहचान बनाने वाली रेणुका रामनाथ मल्टीपल्स अल्टरनेट एस्सेट मैनेजमेंट इंडिया की संस्थापक, प्रबंधनिदेशक एवं सीईओ हैं।

सुनीता नारायण – भारत की प्रसिद्ध पर्यावरणविद सुनीता नारायण 1982 से विज्ञान और पर्यावरण केंद्र से जुड़ी हैं। पर्यावरण संचार समाज की निदेशक रही सुनीता नारायण पर्यावरण पर केंद्रित पत्रिका ‘डाउन टू अर्थ’ का प्रकाशन भी करती हैं।

अरुंधति राय – देश की मशहूर लेखिका अरुंधति राय से हम सभी परिचित हैं। अभिनय से अपने करियर की शुरुआत करने वाली अरुंधति राय ने फिल्म ‘मैसी साहब’ में भूमिका निभाने के अलावा कई फिल्मों की कहानी भी लिखी। अपने उपन्यास ‘गॉड ऑफ स्माल थिंग्स’ के लिए उन्हें बुकर पुरस्कार से नवाज़ा गया।

मिताली राज – क्रिकेट के शौकीन लोगों की जुबान पर अब मिताली राज का नाम भी रहने लगा है जो भारतीय महिला क्रिकेट टीम की होनहार कप्तान हैं और उन्होंने शानदार रिकार्ड्स बनाने के साथ-साथ महिला क्रिकेट टीम को काफी ऊंचाइयों तक भी पहुंचाया है।

महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपना परचम लहराया है और भविष्य में भी महिलाएं इसी तरह तेज़ी से आगे बढ़ती जाएंगी और अब आप ऐसी ही कुछ ख़ास चुनिंदा महिलाओं के बारे में जान चुके हैं जिन्होंने भारत की प्रभावशाली महिला होने का गौरव हासिल किया है और अपनी काबिलियत और हुनर के दम पर मिसाल बनायी है, समाज को एक नयी सोच दी है और उन सभी महिलाओं को ये प्रेरणा दी है कि महिला चाहे तो कुछ भी कर सकती है इसलिए आप भी अपने अंदर छुपे हुनर को पहचानिये और अपनी काबिलियत के दम पर नया मुकाम बनाने में जुट जाइये।

“भारतीय सिनेमा से जुड़ी ये दिलचस्प बातें क्या आप जानते हैं?”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें