भारत में कुल कितने द्वीप हैं?

द्वीप कहिये या टापू या आइलैंड कह दीजिये लेकिन ये वो जगह है जिसका नाम सुनकर वहां जाने का मन करने लगता है क्योंकि ये द्वीप ऐसी जगह स्थित होते हैं जहाँ पहुंचकर मन रोमांचित हो उठे। ऐसे में ये जानना रोचक होगा कि द्वीप क्या होते हैं और भारत में कुल कितने द्वीप हैं। तो चलिए, आज आपको बताते हैं भारत के द्वीपों के बारे में।

द्वीप या टापू पानी के बीच के स्थल को कहते हैं यानी आइलैंड चारों तरफ से समुद्र से घिरा हुआ प्रदेश या भू-भाग होता है। द्वीपों के बहुत से प्रकार भी होते हैं और उनके निर्माण के कई प्राकृतिक कारण होते हैं। जब बहुत छोटे-छोटे द्वीप मिलकर एक समूह बना लेते हैं तो उसे द्वीपपुंज कहते हैं और बहुत बड़े द्वीप को महाद्वीप कहा जाता है।

भारत में लगभग 1200 द्वीप मौजूद हैं लेकिन भारत के अधिकार क्षेत्र में कुल 247 द्वीप हैं जिनमें से 204 द्वीप बंगाल की खाड़ी में है और 43 अरब सागर में हैं। मन्नार की खाड़ी में भी कुछ कोरल आइलैंड्स मौजूद हैं।

बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में स्थित द्वीपों की संरचना में अंतर है। बंगाल की खाड़ी में स्थित द्वीप तृतीयक युग की पर्वतमाला के बढ़े हुए भाग के रुप में मौजूद हैं जबकि अरब सागर में स्थित द्वीपों की संरचना में प्रवाल पाए जाते हैं।

बंगाल की खाड़ी में तट के नजदीक स्थित द्वीप हैं – सागर द्वीप (गंगासागर), न्यू मूर द्वीप, पम्बन द्वीप, श्रीहरिकोटा द्वीप, हेयर द्वीप।

बंगाल की खाड़ी के तट से दूर अंडमान और निकोबार द्वीप समूह स्थित है जो 8300 किमी. क्षेत्र में विस्तृत है। ये प्रदेश लगभग 200 छोटे-बड़े द्वीपों का समूह हैं। अंडमान समूह में लगभग 20 बड़े द्वीप हैं जो 350 किमी. तक फैले हैं जबकि निकोबार द्वीप समूह में 19 बड़े द्वीप हैं जिनमें से कुछ द्वीपों का विस्तार 60 से 100 किमी. है।

इनमें प्रमुख द्वीप हैं – बड़ा अंडमान, उत्तरी अंडमान, मध्यवर्ती अंडमान, दक्षिणी अंडमान, छोटा अंडमान, कार निकोबार, महान निकोबार, तिलानचोंग, चनूम्ता, टेरेसा, कमोरटा, कचाल, नान करोटी और ट्रिकेट द्वीप। इनमें से ज्यादातर द्वीप ज्वालामुखी से निकले लावा से बने हैं। अंडमान निकोबार द्वीप समूह की राजधानी पोर्ट ब्लेयर के उत्तर में स्थित बैरम और नारकोंडम द्वीप की उत्पत्ति ज्वालामुखी से हुयी है।

अरब सागर के तट के निकट यानी 1 से 5 किमी. की दूरी तक चट्टानी संरचना वाले कई द्वीप स्थित हैं जैसे पीरम, भैंसला हेनरे, कैनरे, बुचर, एलीफैंटा, अरनाला, भटकल, पिजननाक। अरब सागर के तट से दूर यानी 5 किमी. से ज्यादा दूरी तक लक्षद्वीप, अमीनदीवी, मिनीकाय जैसे द्वीप स्थित हैं जिनमें लक्षद्वीप सबसे बड़ा (32 वर्ग किमी.) द्वीप है और ये द्वीप प्रवाल से निर्मित है।

दोस्तों, उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

“पीने के पानी का टीडीएस कितना होना चाहिए?”