भारत से किस-किस देश का जन्म हुआ है?

पूरी दुनिया में भारत एक विशाल देश रहा है लेकिन समय के साथ इसकी अखंडता भंग होती चली गयी और इसके बंटवारे होते गए और भारत जैसे विशाल देश से बहुत से छोटे-बड़े देशों का जन्म होता गया। ऐसे में ये दिलचस्प जानकारी लेना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है कि भारत से किस-किस देश का जन्म हुआ है। तो चलिए, आज बात करते हैं भारत से जन्मे देशों के बारे में।

ईरान – भारत से आर्यन ईरान पहुंचे और वहां बस गए। उसके बाद अरबों ने वहां हमला करके वहीं रहने का ठिकाना बना लिया और तब इसका नाम ईरान पड़ गया।

कम्बोडिया – पहली शताब्दी में कम्बोडिया नामक भारतीय ब्राह्मण ने इस देश में हिन्दू राज स्थापित किया इसलिए इस देश का नाम कम्बोडिया पड़ा।

वियतनाम – भारत का एक अंग रहे इस देश का नाम पहले चंपा था। 1825 में चंपा हिन्दुराज समाप्त होने से ये एक अलग देश बन गया।

मलेशिया – इस देश में बौद्ध धर्म को स्थापित करने वाले भारतीय थे। 1948 में अंग्रेजों से आजादी मिलने के बाद ये देश भारत से अलग हो गया।

इंडोनेशिया – एक समय में भारत का संपन्न देश रहा इंडोनेशिया बाद में एक अलग देश बन गया।

अफगानिस्तान – कभी भारत का अंग रह चुका ये देश सिकंदर से संधि करके उसे सौंप दिया गया था।

नेपाल – ये भी भारत का ही अंग था लेकिन धीरे-धीरे ये भारत से अलग होता गया।

भूटान – इस देश का वर्णन हमारे ग्रंथों में भी मिलता है। 1949 में इस देश ने खुद को संपन्न और अलग देश घोषित कर दिया।

श्रीलंका – इस देश पर पहले पुर्तगाली और फिर अंग्रेजों ने अपना अधिकार साबित किया और 1937 में अंग्रेजों ने इसे भारत से अलग देश बनवा दिया।

म्यांमार – इस देश का पहला राजा वाराणसी का राजकुमार था। 1852 में अंग्रेजों ने इस पर अधिकार किया और 1937 में इसे भारत से अलग कर दिया गया।

पाकिस्तान – भारत का अभिन्न अंग रहा ये देश असहिष्णुता के चलते भारत से अलग करके एक अलग देश बना दिया गया।

बांग्लादेश – ये देश 15 अगस्त से पहले भारत का अंग रहा। उसके बाद पूर्वी पाकिस्तान का अंग रहा और 1971 में इसे पाकिस्तान से अलग करवाया गया।

थाईलैंड – इस देश पर पहले हिन्दू राजस्व था लेकिन बाद में बौद्ध धर्म के बढ़ते प्रचार और विस्तार के बाद ये देश भारत से अलग हो गया।

तिब्बत – भारत का अंग रहा ये देश चीन का हिस्सा बन गया और बाद में चीन से भी अलग हो गया।

“आँख का वजन कितना होता है?”