जैक मा 50 से ज्यादा बार फेल होकर भी बन गए अरबपति

अगस्त 24, 2016

सोचिये हमे एक बार कहीं असफलता मिल जाये तो हम कितने निराश हो जाते हैं और हौसला खो देते हैं लेकिन एक शख्स ऐसा भी है जो आज अरब पति है लेकिन अपने करियर में 50 से भी ज्यादा बार इन्होंने असफलता का मुह देखा है। जी हाँ हम बात कर रहे हैं चीन के अलीबाबा ग्रुप के फाउंडर “जैक मा” की।

जैक मा के पास कोई कॉलेज की डिग्री भी नहीं है और इन्होंने अपनी जिंदगी में कई कठिनाइयों और हार का सामना किया है लेकिन अपनी काबिलियत के दम पर ये आज एशिया के दूसरे और विश्व के 18वें सबसे धनी व्यक्ति है।

जैक मा को अंग्रेजी सीखने का शौक था और इन्होंने सिर्फ 13 साल की उम्र में अंग्रेजी सीखी और टूरिस्ट गाइड बने। करीब 9 साल टूरिस्ट गाइड बनने के बाद इन्होंने एक स्कूल में अंग्रेजी भी पढाई।

आपको बता दें की जैक मा 5वीं क्लास में 2 बार और 8वीं क्लास में 3 बार फेल हो चुके हैं। बाद में ग्रेजुएशन के लिए इन्होंने Harward University में लगभग 10 बार अप्लाई किया था लेकिन हर बार इन्हें रिजेक्ट कर दिया गया।

इन्होंने बाद में करीब 30 नौकरियों में भी अप्लाई किया लेकिन सभी जगह से इन्हें मना कर दिया गया। यहाँ तक की इन्होंने एक बार K.F.C. में भी अप्लाई किया था और इस जॉब के लिए 25 लोगों ने आवेदन किया था और जैक मा के अलावा बाकी सभी 24 लोगों का चयन हो गया था।

जैक मा बहुत ही सकारात्मक विचार धारा के व्यक्ति हैं और इसी कारण हर क्षेत्र में इतनी बार असफल होने के बाद भी इन्होंने हिम्मत नहीं खोई और एक ट्रांसलेशन कंपनी की शुरआत की और इसी बीच वो अमेरिका गए। वहां जाकर उन्हें पहली बार पता चला की इन्टरनेट भी कोई चीज़ होती है जिसके जरिये पूरी दुनिया कनेक्ट हो सकती है।

बस इसी से प्रेरित होकर जैक मा ने चीन के लिए ऑनलाइन डायरेक्टरी “China Pages” की शुरुआत की और इसे बेहद सफलता मिली जिसके बाद इन्हें Mr. Internet के नाम से जाना जाने लगा। हालाँकि बाद में इन्हें “China Pages” को बंद करना पड़ा और इसके पीछे वजह थी चीन में इन्टरनेट का ज्यादा प्रसार ना होना।

लेकिन जैक मा यहीं नही रुके 1998 में इन्होंने अपनी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट alibaba.com लॉन्च की। हालाँकि इसमें भी इनको काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा और शुरू के 3 साल तक इन्हें इससे कोई कमाई नहीं हुई।

वेबसाइट के साथ सबसे बड़ी दिक्कत थी Online Payment की और इनके साथ कोई भी बैंक जुड़ने को तैयार नहीं था। ऐसे में इन्होंने “AliPay” नाम से अपना खुद का Payment System बनाया जिसके जरिये देश और देश के बाहर के ग्राहकों के लिए भी पेमेंट ऑप्शन आसान हो गया।

शुरुआत में सभी लोगों ने जैक मा के इस आईडिया को बेकार बताया लेकिन जैक मा को अपने आप पर पूरा भरोसा था और परिणाम आज आप सबके सामने हैं।

आज इनकी वेबसाइट alibaba.com पर प्रतिदिन लगभग 100 मिलियन ग्राहक आते हैं और करीब 800 मिलियन यूजर्स AliPay का इस्तेमाल करते है। अगर वेबसाइट alibaba.com के मार्केट वैल्यू की बात की जाये तो वो है 231 अरब डॉलर। 51 वर्ष के जैक मा के पास 24.1 अरब डॉलर (130800 करोड़ / 1300 अरब रूपए) की संपत्ति है।

आज अलीबाबा विश्व की सबसे ज्यादा ऑनलाइन सामान बेचने वाली ई-कॉमर्स कंपनी है।

जैक मा आज पूरी दुनिया के लिए आदर्श और एक प्रेरणा का स्त्रोत हैं, चाहे जीवन में कितनी भी असफलता या कठिनाई मिले अपनी सकारात्मक सोच और दृढ संकल्प के जरिये हम कोई भी मुकाम हासिल कर सकते हैं।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“आत्मविश्वास से कैसे हासिल की जा सकती है कामयाबी”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें