बिना कान कैसे सुनते हैं पक्षी?

मई 11, 2018

पक्षियों की चहचहाहट आपको भी पसंद आती होगी और उनकी कभी तेज़ होती और कभी मधुर होती आवाज़ों को आप सुन भी पाते हैं लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि पक्षी कैसे सुनते होंगे? क्योंकि उनके पास तो हमारी तरह दो कान होते ही नहीं है। इसके बावजूद पक्षियों को आवाज़ सुनकर चौंकने और बचकर यहाँ – वहाँ उड़ते हुए आपने भी देखा होगा। ऐसे में इस सवाल का जवाब जानना जरुरी हो जाता है कि आखिर बिना कान कैसे सुनते हैं पक्षी। तो चलिए, आज आपके इस सवाल का आसान सा जवाब ढूंढ़ते हैं-

सबसे पहले तो हमें ये जान लेना है कि भले ही पक्षियों के बाहरी कान दिखाई ना देते हों लेकिन फिर भी पक्षी सुनने की क्षमता रखते हैं। असल में पक्षियों में एक आंतरिक कान होता है जो उनके सिर के अंदर एक संरचना होती है और ख़ास बात ये है कि ये संरचना इंसानों की तरह ही होती है।

हाल ही में हुए एक अध्ययन में ये पाया गया कि बाहरी कान का काम पक्षी अपने सिर से करते हैं यानि सिर में स्थित संरचना से ही पक्षी पता लगाते हैं कि आवाज़ उनके ऊपर से आ रही है या नीचे से या किसी और दिशा से।

पहले माना जाता था कि पक्षियों में बाहरी कान नहीं होने के कारण पक्षी अलग-अलग ऊंचाइयों से आने वाली आवाज़ों में फर्क नहीं कर पाते हैं लेकिन जब एक मादा श्यामापक्षी ये पता लगा पायी कि उसका साथी नर पक्षी उससे थोड़ी ऊंचाई पर ऊपर बैठा है, तब ये स्पष्ट हुआ कि पक्षियों का अंडाकार सिर ध्वनि ऊर्जा को उसी तरह रूपांतरित करता है जिस तरह हमारा बाहरी कान करता है।

दोस्तों, अब ये गुत्थी सुलझ गयी है कि आखिर बिना बाहरी कानों के पक्षी सुन कैसे लेते हैं। उम्मीद है कि ये जानकारी आपको रोचक भी लगी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

“कभी सोचा है तार पर ही क्योँ बैठते है पक्षी ?”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें