ब्लड ग्रुप के प्रकार और इससे जुड़ी कुछ ज़रूरी बातें

मार्च 19, 2018

कभी किसी स्कूल कैंप में या कभी हॉस्पिटल में ब्लड टेस्ट करवाने के बाद आपको अपने ब्लड ग्रुप के बारे में पता चला होगा लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि कुछ लोगों का ब्लड ग्रुप एक जैसा होता है तो कुछ लोगों का अलग-अलग ब्लड ग्रुप होता है। ऐसा होने का क्या कारण है और ये ब्लड ग्रुप होता क्या है? ऐसे ही कई सवालों के जवाब जानने के लिए आज हम बात करते हैं ब्लड ग्रुप के बारे में–

ब्लड में मौजूद एंटीबॉडीज और RBC की सतह पर पाए जाने वाले वंशानुगत एंटीजन के आधार पर ब्लड को अलग-अलग ग्रुप में बांटे जाने पर ब्लड ग्रुप बनता है। ABO ब्लड ग्रुप सिस्टम के अनुसार, RBC की सतह पर एंटीजन A और एंटीजन B की उपस्थिति और अनुपस्थिति के आधार पर मुख्य रूप से 4 ब्लड ग्रुप होते हैं-

ग्रुप A – इस ग्रुप में रेड ब्लड सेल्स पर केवल एंटीजन A पाया जाता है और प्लाज्मा में B एंटीबॉडी मौजूद होती है।
ग्रुप B – इस ग्रुप में रेड ब्लड सेल्स पर केवल एंटीजन B पाया जाता है और प्लाज्मा में A एंटीबॉडी मौजूद होती है।
ग्रुप AB – इस ब्लड ग्रुप में एंटीजन A और B दोनों पाए जाते हैं लेकिन प्लाज्मा में दोनों ही एंटीबॉडी (A और B) नहीं पायी जाती हैं।
ग्रुप O – इस ग्रुप में दोनों ही एंटीजन (A और B) नहीं पाए जाते हैं जबकि प्लाज्मा में दोनों एंटीबॉडी (A और B) मौजूद होती हैं।

एंटीजन A और B के बारे में तो आप जान चुके हैं लेकिन इनके अलावा एक और एंटीजन होता है जिसे Rh फैक्टर कहते हैं, जो रेड ब्लड सेल्स की सतह पर पाया जाने वाला एक प्रोटीन होता है। ये प्रोटीन आपके ब्लड में उपस्थित हो भी सकता है और नहीं भी। इसी Rh फैक्टर के आधार पर ब्लड ग्रुप पॉजिटिव और नेगेटिव कहे जाते हैं यानी अगर Rh फैक्टर मौजूद है तो ब्लड ग्रुप पॉजिटिव(+) होगा और अगर Rh फैक्टर मौजूद नहीं है तो ब्लड ग्रुप नेगेटिव (-) कहलायेगा।

ब्लड में Rh फैक्टर के होने या ना होने के आधार पर ही, सामान्य रूप से ब्लड ग्रुप को 8 भागों में बांटा जाता है–

इंसानों में ब्लड ग्रुप और Rh फैक्टर की खोज ऑस्ट्रिया के वैज्ञानिक ‘कार्ल लैंडस्टीनर’ ने की थी इसलिए उन्हें ‘ब्लड ग्रुप का जनक’ माना जाता है।

ब्लड ग्रुप से जुड़ी कुछ ज़रूरी बातें-

ब्लड ग्रुप O – ये सभी ब्लड ग्रुप वाले लोगों को ब्लड दे सकता है लेकिन केवल O ब्लड ग्रुप वालों से ही ब्लड ले सकता है।
ब्लड ग्रुप A – ये ब्लड ग्रुप A और AB को ब्लड दे सकता है जबकि ब्लड ग्रुप A और O से ही ब्लड ले सकता है।
ब्लड ग्रुप B – इस ब्लड ग्रुप वाले लोग B और AB ब्लड ग्रुप वालों को ब्लड दे सकते हैं जबकि ब्लड ग्रुप B और O से ही ब्लड ले सकते हैं।
ब्लड ग्रुप AB – इस ब्लड ग्रुप के लोग केवल AB ब्लड ग्रुप को ही ब्लड दे सकते हैं जबकि सभी ब्लड ग्रुप (A, B, AB, O) से ब्लड ले सकते हैं।

दोस्तों, अब आप जान चुके हैं कि ब्लड ग्रुप क्या होते हैं और कितने प्रकार के होते हैं। उम्मीद हैं कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आप भी समय रहते अपना ब्लड ग्रुप पता कर लेंगे ताकि जरुरत पड़ने पर आपको किसी तरह की मुश्किल का सामना ना करना पड़े।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“ब्लड टेस्ट कितने प्रकार के होते हैं और किस टेस्ट से क्या जानकारी मिलती है?”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें