बॉडी मास इंडेक्स क्या है और इससे कैसे करें मोटापे की जाँच

मार्च 13, 2018

बॉडी मास इंडेक्स या बीएमआई सामान्य स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देता है। ये इंडेक्स शरीर की चर्बी को नहीं नापता है बल्कि शरीर में मोटापे की स्थिति के बारे में बताता है और शरीर की लम्बाई के आधार पर आदर्श वजन बताता है। बॉडी मास इंडेक्स या शरीर द्रव्यमान सूचकांक ये बताता है कि शरीर का भार, उसकी लम्बाई के अनुपात में सही है या नहीं। बीएमआई निकालने के लिए किसी व्यक्ति की लम्बाई को दुगुना करके, उसमें भार किलोग्राम से भाग दिया जाता है।

बीएमआई ऊंचाई से वजन का सम्बन्ध कराने के लिए एक महत्वपूर्ण सूचक है। भारतीयों के लिए बीएमआई 22.1 से ज़्यादा नहीं होना चाहिए। किसी व्यक्ति की ऊंचाई के आधार पर एक स्वस्थ शरीर के वजन का आकलन करने के लिए एक उपयोगी उपकरण के रूप में बीएमआई को देखा जा सकता है।

बीएमआई का मापन कैसे करें – बीएमआई मोटापे की जांच करने का अंतर्राष्ट्रीय मानक है। अगर आप अपना बीएमआई मापना चाहते हैं तो अपने वजन को अपनी लम्बाई (इंच में) से भाग करें। इस नाप के आधार पर आप ये जान सकेंगे कि आपका वजन सामान्य है या उससे ज़्यादा है। भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मानकों के अनुसार – सामान्य बीएमआई 23 से कम है, ओवरवेट 23 से ज़्यादा है और 25 से ज़्यादा बीएमआई मोटापे की श्रेणी में आता है।

आइये अब आपको BMI फार्मूला बताते हैं-
BMI फार्मूला – Weight (Kg)/ Height (Meter) x Height (Meter)

इसे समझने के लिए ये उदाहरण लेते हैं-
अगर आपका वजन 70 किलोग्राम है और ऊंचाई 5 फ़ीट 7 इंच यानी 1.70 m. है, तो आपका BMI होगा-
70 (kg) / 1.70*1.70 (m.) = 24

इस तरह रखें बीएमआई पर नज़र-
बीएमआई पर नज़र रखकर आप स्वयं ही अपने वजन को कण्ट्रोल कर सकते हैं। ओवरवेट होने की स्थिति में पहले मोटापे को दूर करें। अगर आपका बीएमआई आपको सही वेट वाला दर्शाता है तो आप कमर की माप ज़रूर लें क्योंकि कमर के 80 से.मी. से ज़्यादा होने की स्थिति में स्वास्थ्य सम्बन्धी ख़तरा होने की आशंका बढ़ जाती है।

रिसर्च बताते हैं कि लम्बे समय से ओवरवेट होने की स्थिति में अगर पांच से पंद्रह प्रतिशत तक वजन कम कर लिया जाए तो स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सकता है।

बॉडी बिल्डर्स और बुजुर्गों के लिए बीएमआई के इस मानक को मान्य नहीं माना जाता है। इसके अलावा प्रेगनेंसी में भी ये मान्य नहीं होता है।

दोस्तों, अब आप बॉडी मास इंडेक्स के बारे में जानकारी प्राप्त कर चुके हैं और इसके ज़रिये अपने वजन से जुड़ी सही जानकारी निकालने का फार्मूला भी जान चुके हैं। तो बस, देर किस बात की! तुरंत अपना बीएमआई जांचिए और अगर ये सामान्य से कम या ज़्यादा आये तो इसे संतुलित करने के प्रयास तेज़ कर दीजिये क्योंकि एक बेहतर जीवन के लिए स्वस्थ शरीर पहली जरुरत होता है।

हमने यह लेख प्रैक्टिकल अनुभव व जानकारी के आधार पर आपसे साझा किया है। अपनी सूझ-बुझ का इस्तेमाल करे। आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“क्रिएटिनिन क्या होता है?”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

शेयर करें