बिजनेस में असफलता के मुख्य कारण

हर व्यक्ति जब रोज़ ऑफिस जाता है तो यही सोचा करता है कि काश! मेरा अपना बिजनेस होता, तो मुझे रोज़ ऑफिस भी नहीं जाना पड़ता और मेरे ऊपर कोई बॉस भी नहीं होता। इसी सोच के चलते हम में से कुछ लोग अपना नया बिजनेस स्टार्ट कर भी देते हैं लेकिन कुछ ही वक्त में ये बिजनेस बंद करने की नौबत भी आ जाती है। आंकड़ों के अनुसार, 50% बिजनेस अपने पहले ही साल में बंद हो जाते हैं और 95% बिजनेस का ये हाल होता है कि वो 5 साल के अंदर बंद हो जाते हैं। अब सवाल ये उठता है कि खुद का बिज़नेस शुरू करने के बावजूद भी बिजनेस में असफलता क्यों हाथ आती है? ऐसी कौनसी गलतियां की जाती है जो बिजनेस को उसके शुरुआती दौर में ही बंद करा देती हैं और बुलंदियों का सपना देखकर जो बिजनेस शुरू किया जाता है वो निराशा का कारण बन जाता है। तो चलिए आज बात करते हैं उन कारणों की जो बिजनेस को फेल करके बिजनेसमैन को असफल बनाते हैं –

बिजनेस को स्थापित करने के लिए पर्याप्त धन नहीं होना – अक्सर देखा गया है कि कई नए बिजनेस, अच्छे आइडियाज के बावजूद 2-3 महीने में ही बंद हो जाते हैं और इसका कारण होता है बजट का काफी कम होना। नए बिजनेसमैन केवल 2-3 महीने का फण्ड लेकर ही अपना बिजनेस शुरू कर देते हैं और जब इतने समय में कोई फायदा होता नहीं दिखायी देता तो इसे बंद करने का कड़ा निर्णय लेना ही पड़ता है क्योंकि बिजनेस में इन्वेस्ट करने के लिए फण्ड होता ही नहीं है। इस मुश्किल से बचने के लिए ये ज़रूरी है कि कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले पर्याप्त फण्ड रखा जाए क्योंकि हर बिजनेस चुटकियों में स्थापित नहीं होता, बल्कि उसे स्थापित होने में 1-2 साल भी लग सकते हैं और ऐसे में बिजनेस को प्रॉफिट के बिना भी चलाते रहने के लिए पर्याप्त धन होना बेहद ज़रूरी होता है।

कमजोर प्रबंधन – बिजनेस शुरू करने के लिए मनी के अलावा मैनेजमेंट का होना भी बहुत ज़रूरी होता है। अक्सर बिजनेस शुरू करने के उत्साह में नए बिजनेसमैन ये भूल जाते हैं कि अपने बिजनेस को तेज़ी से आगे बढ़ाने के लिए एक बेहतरीन टीम की ज़रूरत होगी जो फाइनेंस, प्रोडक्शन और सेलिंग जैसे ज़रूरी एरिया कवर करेंगी और इस टीम वर्क के ज़रिये ही बिजनेस का प्रचार भी हो सकेगा और प्रोडक्ट की बिक्री भी। लेकिन बिजनेस में की गयी ये भूल बहुत बड़ी मुश्किल साबित होती है क्योंकि हर क्षेत्र के एक्सपर्ट को चुनने की बजाय अकुशल कर्मचारियों को चुन लिया जाता है और उसका परिणाम होता है बिजनेस का ग्राफ नीचे गिरते जाना। किसी भी बिजनेस को सफल बनाने के लिए ज़रूरी है कि उस बिजनेस से जुड़ी टीम के सभी सदस्य अपने-अपने काम में पारंगत हो और मार्केट में अपने प्रोडक्ट को बनाये रखने में सक्षम भी हो।

सिर्फ प्रॉफिट बनाने के लिए बिजनेस शुरू करना – ये बात एकदम सामान्य है कि बिजनेस शुरू करने का लक्ष्य होता है ज़्यादा से ज़्यादा पैसे कमाना। लेकिन ये तो आप जानते ही है कि हर काम का एक उसूल होता है, जैसे बिजनेस करने का ये उसूल है कि सिर्फ पैसा कमाने की तरफ ध्यान देने की बजाए अपने बिजनेस से जुड़ी ख़ामियों और शिकायतों को भी तुरंत दूर करने के कोशिश की जाए क्योंकि अगर आप अपने किसी प्रोडक्ट की तेज़ बिक्री से खुश होकर उसकी मात्रा को बढ़ाकर ज़्यादा पैसा बनाने के बारे में ही सोचते हैं और उस प्रोडक्ट की क्वालिटी गिराकर, ख़राब प्रोड्कट मार्केट में ले आते हैं तो ये तय है कि आप ज़्यादा प्रॉफिट नहीं कमा पाएंगे, बल्कि घटिया क्वालिटी के प्रोडक्ट के कारण आपको भारी नुकसान भी उठाना पड़ेगा और आपकी साख भी गिरेगी। अधिकतर नए बिजनेस फेल हो जाने का यही कारण होता है कि क्वालिटी की बजाये क्वांटिटी पर ज़ोर दिया जाता है।

नए बिजनेस में ज़्यादा पैसा इन्वेस्ट कर देना – खुद का बिजनेस स्टार्ट करने के उत्साह में अक्सर नए उद्यमी बिना सोचे समझे बहुत सारा पैसा अपने नए बिजनेस में लगा देते हैं, लेकिन केवल पैसे लगाने से ही बिजनेस नहीं चलता बल्कि मार्केट की डिमांड का भी काफी महत्व होता है और अपने प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को समझे बिना ही ढेर सारा इन्वेस्टमेंट कर देने के बाद जब प्रॉफिट नहीं मिलता है तो बिजनेस को बंद कर देने के अलावा कोई और विकल्प बचता ही नहीं हैं क्योंकि पहले ही इन्वेस्टमेंट बहुत ज़्यादा कर दी जाती है और फायदा उसके अनुसार मिल नहीं पाता।

मार्केट की डिमांड को नहीं समझ पाना – कई बार ऐसा भी होता है कि नए उद्यमी, बिजनेस शुरू करने से पहले बाज़ार की ज़रूरत को समझने की बजाए अपने मन मुताबिक सर्विस देने लगते हैं जबकि बिजनेसमैन के लिए ये जानना बेहद ज़रूरी होता है कि मार्केट में किन चीज़ों की डिमांड है और ग्राहक की ज़रूरत क्या है। ऐसे में मार्केट की ज़रूरतों से अनजान नए उद्यमी अपने प्रोडक्ट्स का ना तो सही से प्रचार करके, उन्हें बेचकर मुनाफा कमा पाते हैं और ना ही अपने कस्टमर्स को संतुष्ट कर पाते हैं जिसके कारण वो बिजनेस में असफल होते चले जाते हैं।

why-unsuccess-in-business बिजनेस में असफलता के मुख्य कारण

मार्केटिंग स्किल्स में कमी – किसी भी प्रोडक्ट से मुनाफा कमाने के लिए सबसे पहले ये ज़रूरी है कि उस प्रोडक्ट की मार्केटिंग अच्छे से की जाए, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोग उस बिज़नेस और उस प्रोडक्ट के बारे में जान सके। जब किसी प्रोडक्ट की मार्केटिंग अच्छे से की जाती है तो उस प्रोडक्ट के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा लोग जानकारी रखते हैं और उस प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ती जाती है लेकिन कमजोर मार्केटिंग या मार्केटिंग के अभाव में प्रोडक्ट अच्छी क्वालिटी का होते हुए भी लोगों के बीच पहचाना नहीं जाता, जिसके चलते नुकसान होने की स्थिति बन जाती है।

ज़रूरत से कम समय इन्वेस्ट करना – कई बार लोग ये सोचकर बिजनेस शुरू कर लेते हैं कि खुद का बिजनेस होगा तो कम समय काम करना पड़ेगा और एक बार शुरू हो जाने के बाद बिजनेस में मुनाफा होता रहेगा। यही सोच भारी नुकसान और असफलता का कारण बन जाती है क्योंकि नया बिजनेस शुरू करने का मतलब है अपना बहुत सारा समय उसमें इन्वेस्ट करना। बिजनेस की ज़रूरतों को समझने, टीम को मैनेज करने, प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को सही तरीके से चलाने और नए आइडियाज पर काम करते रहने के लिए काफी समय की ज़रूरत होती है और अगर बिजनेस के लिए आवश्यक समय से कम समय दिया जाता है तो बिजनेस के ठप होने में ज़्यादा देर नहीं लगती।

बिजनेस लोकेशन भी हो सकती है कारण – कई बार बिजनेस को उसकी लोकेशन भी प्रभावित करती है क्योंकि अगर आपकी बिजनेस लोकेशन ऐसी जगह है जहाँ लोगों का पहुंचना आसान है और उस एरिया के लोगों को आपके प्रोडक्ट्स और सर्विसेज की ज़रूरत है तो आपके बिजनेस के लिए ये फायदेमन्द साबित हो सकता है लेकिन अगर आपका बिजनेस ऐसी जगह पर स्थापित है जहाँ पहुंचना बिलकुल आसान नहीं है और जहाँ पहले से ही आपके जैसे प्रोडक्ट्स और सर्विसेज देने वाली कंपनियों की भरमार है तो ऐसी लोकेशन भी आपके बिजनेस को प्रभावित कर सकती है।

अपना बिजनेस स्टार्ट करने का अरमान रखना वाकई काबिल-ए-तारीफ़ है लेकिन अगर बिजनेस शुरू करने से पहले ही आपको फेल हो जाने का डर सता रहा है तो डरिये मत। हर नया काम करने से पहले थोड़ी असहजता होना स्वाभाविक है लेकिन अगर आप पूरी तैयारी के साथ इस मैदान में उतरेंगे तो आप भी जल्द ही सफलता का स्वाद चख सकेंगे। इसके लिए सबसे पहले आपको उन उद्यमियों की ग़लतियों से सीख लेनी होगी जिन्होंने अपने अति-उत्साह और बिना तैयारी के ही बिजनेस शुरू कर दिया और फिर उसे बंद भी करना पड़ा। दूसरों की ग़लतियों से सीख लीजिये, मार्केट की ज़रूरत को समझिये, क्वालिटी को सबसे ज़्यादा महत्व दीजिये और अपने समय और धन की पर्याप्त मात्रा जमा करके चल पड़िये एक सफल बिजनेसमैन बनने की राह पर।

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

“कुछ ऐसी आदतें जो हमे बनाती है असफल”
“असफलता को सफलता में कैसे बदलें”

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment