स्वस्थ जीवन जीने की जीवन शैली

फरवरी 13, 2016

हम इस आधुनिक जीवन में बहुत ज्यादा व्यस्त हो गए हैं, यह सब हमारी जीवन शैली में बदलाव की वजह से है, हम रोजाना की भाग दौड़ भरी जिंदगी में स्वस्थ जीवन जीने की जीवन शैली को बहुत पीछे छोड़ चुके हैं, यहाँ कुछ आसान से तरीके अपनाते हुए दिनचर्या और खानपान में बदलाव करके न केवल हम स्वस्थ बल्कि तनाव मुक्त भी रह सकते हैं। हम ये भूल ही जाते हैं की हम कितने तनाव में हैं और हमेशा चिड़चिड़ेपन से ग्रस्त रहते हैं। इस ही स्वभाव की वजह से हम अपने आप को समाज से दूर महसूस करते हैं जिस के परिणाम स्वरूप हम अपने वर्तमान के साथ-साथ अपना भविष्य भी अनिश्चितता में डाल देते हैं, जिस का दुष्प्रभाव हमारे साथ-साथ देश और समाज पर भी पड़ता है क्योँकि हर समाज व देश की बुनियाद व्यक्ति होता है अगर वो स्वस्थ रहेगा तो सभी तरफ एक स्वस्थ वातावरण का संचार होगा।

तनाव मुक्त रहने का हमारी कार्यकुशलता पर भी प्रभाव पड़ता है इसलिए हमे जितना हो सके तनाव से दूर रहना चाहिए इसके लिए हम अपनी पिछली गलतियों से सबक ले सकते हैं और अपना भविष्य उज्जवल कर सकते हैं। हमे कई बार मालूम ही नहीं होता की जिस प्रकार की जीवन शैली में हम जी रहे हैं वह हमारे स्वास्थ्य के लिए कितनी स्वास्थ्यप्रद है, हमे तनाव मुक्त रहने के लिए बहुत बारीकी से ध्यान देते हुए अपने खान पान पर भी ध्यान देना होगा की हमे एक स्वस्थ शरीर के लिए, क्या, कब और कितना खाना चाहिए ।

हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में पौष्टिक व् नियमित भोजन का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है, जिसको हम अक्सर नजरअंदाज करते हुए कुछ भी जैसे पिज़ा, बर्गर, आइसक्रीम खा लेते हैं… जो की हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, कभी कभी हम जरुरत से कम या ज्यादा खा लेते हैं यह अक्सर टेलीविज़न देखते हुए होता है जब हमारा पूरा ध्यान उस प्रोग्राम पर होता है जिस को हम टेलीविज़न के द्वारा देख रहे होते हैं यह भी हानिकारक तत्व है जो की हमारे शरीर और मन दोनों के लिए हानिकारक होता है ।

स्वस्थ जीवन के लिए न केवल भरपूर नींद लेनी चाहिए बल्कि शरीर की जरुरत के अनुसार पोस्टिक भोजन और नियमित व्यायाम भी करना चाहिए, महान पुरुषों का मानना है की योग के नियमित अभ्यास से स्वास्थ्यप्रद भोजन खाना उनके लिए आसान हो गया है और प्रतिदिन योग करने से वे न केवल स्वस्थ रहते हैं बल्कि उनकी सोच भी सकारात्मक हो गई है। योग का हमारे जीवन में प्राचीन काल से ही बहुत बड़ा योगदान रहा है जिस तरह योग शब्द से हमें योगी की अनिभूति होती है। योगी वह महान पुरूष होता है जिसमे सय्यम, सादगी, सचाई, सकारात्मकता व् सुन्दर जीवन जीने की जीवन शैली मिलती है। यह सब सिर्फ योग, ध्यान व् अपनी जीवन शैली में बदलाव से संभव है । एक स्वस्थ शरीर से स्वस्थ मन की उत्पत्ति होती है और स्वस्थ शरीर के लिए हमे अपने शरीर को भी आराम देना होता है, जो की हमे या तो कुछ क्षण ईश्वर की भक्ति करके या आँखे बंद करके ध्यान करने से मिलता है। यह न केवल एक अचूक नुस्खा है बल्कि हमरे स्वस्थ शरीर के लिए कारगर होता है।

हमारी जीवन शैली में हमारे समाज का भी बहुत बड़ा योगदान है क्योंकि जब से इंसान की उत्पत्ति हुई है तभी से लगभग हर इंसान एक समाज से बंधा हुआ है। हमारा उठना बैठना, खान-पान एवं बोलचाल का इसमें बड़ा योगदान है, हम अपनी रोजाना की समस्याओं एवं अपने दुःख सुख बाँट सकते हैं, हम समाज के द्वारा मुसीबत में मदद भी ले सकते हैं और दे सकते हैं। किसी की मदद कर के जो ख़ुशी मिलती है वह करोड़ों रुपए कमाने से भी नहीं मिलती हम जब कोई अच्छा काम करते हैं तो हमे एक सुकून मिलता है जो की हमारे शरीर के स्वास्थ्य के लिहाज से एवं मन की तृप्ति के लिए बहुत जरुरी होता है। क्योकि जब हम अच्छा काम करते हैं, तो हम अपने श्रेष्ठ प्रदर्शन के कारण संतुष्ट होते हैं और वह संतुष्टि हमे प्रसन्न करती है।

आज कल इस आधुनिक जीवन में समय की बहुत महत्वता है, क्योंकि हमारे पास अपने लिए हुए काम को सही वक्त पर करने के लिए वक्त की बहुत कमी होती है। इसके लिए हमे अपने व्यक्तित्व में मल्टी टास्किंग स्किल को विकसित करना जरुरी है जो की आज के युग की एक प्रधान प्राथमिकता भी है और इन सब के लिए हमारा स्वस्थ रहना बहुत जरुरी है जो की हमारी दिनचर्या में हम नियमित योग, व्यायाम, भरपूर आठ घंटे की नींद एवं अच्छे खान पान से आता है। हमे प्रतिदिन आधे घंटे नियमित रूप से योग एवं एक घंटे का व्यायाम करना चाहिए तथा प्रातः काल सुबह जल्दी उठ कर शुद्ध हवा, पानी का भी सेवन करना चाहिए. नियमित योग से तनाव कम हो जाते हैं फलस्वरूप मन शांत होता है…

यह कुछ महत्वपूर्ण बातें हैं जिनके द्वारा हम इस आधुनिक जीवन में स्वस्थ रह सकते हैं, यह एक स्वस्थ जीवन जीने की जीवन शैली है जिसको हम अपने रोजाना जीवन में अपना सकते हैं ।

“आयुर्वेद के सदा स्वस्थ रहने के 10 मन्त्र”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें