छाता खरीदते समय इन बातों का ध्यान रखें

बारिश की रिमझिम के बीच छाता लेकर चलना शायद आपको भी पसंद आता होगा लेकिन जब आप छाता खरीदते हैं, तब क्या आप छाते से जुड़ी सभी जरुरी बातों की देख-परख करके ही उसे खरीदते हैं या केवल छाते का रंग और डिजाइन ही देखा करते हैं? अगर आप भी केवल रंग और डिजाइन देखकर ही छाता पसंद करते आये हैं तो आपके लिए छाते से जुड़ी कुछ और ज़रूरी जानकारी रखना फायदेमंद साबित हो सकता है इसलिए आज हम जानते हैं कि छाता खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए-

छाते की लम्बाई – छाते की लम्बाई कम से कम 10 या 11 इंच तो होनी ही चाहिए, साथ ही इसकी क्वालिटी का भी अच्छा होना ज़रूरी है।

छाते की गोलाई – छाते की गोलाई इतनी होनी चाहिए कि दो व्यक्ति उसके नीचे खड़े होकर भीगने से बच सके और अगर छाता एक व्यक्ति के अनुसार लिया जाए तो भी छाते की गोलाई इतनी हो कि आपका सामान जैसे बैग वगैरह भी भीगने से बच सके। साथ ही छाते का हैंडल भी अच्छा होना चाहिए ताकि लम्बे समय तक पकड़े रहने पर हाथों में दर्द ना हो।

छाते का शाफ्ट – छाते का शाफ्ट ही है जो बारिश में आपको भीगने से बचाता है इसलिए इसका मजबूत होना जरुरी है क्योंकि कई छाते पानी की बौछारों को रोक नहीं पाते हैं। ऐसे में छाता खरीदते समय उसके कपड़े पर ख़ास ध्यान देने की जरुरत होती है।

दोस्तों, अब तक शायद आपने छाता खरीदने से पहले इन बातों पर गौर ना किया हो लेकिन अब आप जान चुके हैं कि एक बढ़िया छाता ही आपको तेज़ बारिश से बचा सकता है और बढ़िया छाते की पहचान करना भी अब आपको आ गया है इसलिए अगली बार छाता खरीदते समय इन बातों पर ज़रूर गौर करें और आजकल तो बाजार में बच्चों के लिए भी छाते के बहुत से ऑप्शन मौजूद होते हैं जिन्हें हाथ में पकड़ना भी जरुरी नहीं होता है। ऐसे में बच्चों के लिए ऐसी रंग-बिरंगी हैट्स या टोपियां खरीदना भी एक बढ़िया ऑप्शन है।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

“स्मार्टफोन खरीदने से पहले इन बातों का रखे ध्यान”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।