चिकनगुनिया के लक्षण और इससे बचने के आसान तरीके, जरूर पढ़ें

चिकनगुनिया आज के समय में एक महामारी बन गया है, चिकनगुनिया बेहद पीड़ादायक बिमारी है जो मरीज के शरीर को पूरी तरह से तोड़ कर रख देती है। इसमें तेज बुखार और बदन दर्द इतना ज्यादा होता है की मरीज के लिए असहनीय हो जाता है। वैसे आपको बता दें की चिकनगुनिया मच्छर के काटने से होता है। चिकनगुनिया के बारे में जानना बेहद जरुरी है ताकि इसका सही समय पर इलाज और उपाय किया जा सके।

आइये आपको बताते हैं चिकनगुनिया के बारे में पूरी जानकारी ये क्यों होता है, इसके क्या लक्षण होते हैं और साथ ही जानते हैं इससे बचने के टिप्स। ये जानकारी आप भी जानें और अपने जानकारों के साथ भी शेयर करें जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इसकी जानकारी पहुंचे और लोग समय रहते इस खतरनाक बीमारी से निकल पाएं।

क्यों होता है चिकनगुनिया ?

चिकनगुनिया Aedes Aegypti नामक मच्छर के काट लेने से होता है, ये मच्छर हमें काटकर हमारे शरीर में एक वायरस पहुंच देता है और हम इस बिमारी से संक्रमित हो जाते हैं। वैसे आपको बता दें की इस मच्छर के काटने के 2 से 7 दिन के बाद चिकनगुनिया के लक्षण दिखने लगते हैं।

चिकनगुनिया के लक्षण

1. तेज बुखार आना

चिकनगुनिया के मरीज को ठण्ड लगकर बहुत तेज बुखार आता है कई बार ये बुखार 102 से 104 डिग्री तक पहुँच जाता है।

2. जोड़ों में दर्द होना

चिकनगुनिया के मरीज के शरीर के सभी जोड़ों में काफी तेज दर्द होने लगता है साथ ही की जगह सूजन की शिकायत भी हो सकती है।

3. लाल रंग के रैशेज हो जाना

चिकनगुनिया के कई मरीजों के शरीर पर लाल रंग के रैशेज हो जाते हैं, ये रैशेज मरीज के हाथों, पैरों और चेहरे पर देखे जा सकते हैं।

4. अन्य लक्षण

चिकनगुनिया होने पर मरीज के सिर में भी काफी तेज दर्द उठता है साथ ही चक्कर, उल्टी, भूख ना लगना, थकान और खांसी-जुकाम जैसी शिकायत हो सकती है।

चिकनगुनिया से बचाव के तरीके –

  • चिकनगुनिया Aedes Aegypti मच्छर के काटने से होता है तो जहाँ तक हो सके मच्छरों को घर से दूर रखने के इलाज करें साथ ही अपने आस पास पानी जमा ना होने दें और साफ़ सफाई रखें। ख़ास तौर पर कूलर की जरुरत ना होने पर उसका पानी निकाल दें।
  • ध्यान रहे चिकनगुनिया फैलाने वाला मच्छर दिन में ही काटता है।
  • चिकनगुनिया से बचने की अभी तक कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है इसलिए चिकनगुनिया के लक्षण नजर आने पर डॉक्टर को जरूर दिखाएं।
  • चिकनगुनिया की बीमारी के कारण मरीज के शरीर में डी-हाइड्रेशन की शिकायत होने लगती है ऐसे में मरीज को ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ दें।
  • विटामिन C से भरपूर चीजें खाएं और पियें, विटामिन C शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।
  • ज्यादा तेल और मसालेदार चीजें ना खाएं।
  • मच्छर होने पर घर पर कीटनाशक दवाई का छिड़काव करें।
  • नारियल पानी और सब्ज‍ियों के सूप का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।
  • बर्फ को तोलिये या किसी साफ कपड़े में रखकर मरीज के जोड़ों पर लगाएं उसे आराम मिलेगा।
अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment