चीन की दीवार के बारे में अचंभित कर देने वाली जानकारियां

इस दुनिया में बहुत से ऐसे अजूबे पाए जाते हैं जिन्हें देखकर आप हैरान रह जाएंगे। पूरी दुनिया में ऐसे सात अजूबे हैं जो काफी अनोखे हैं। इन्हीं अजूबों में से एक है ग्रेट वॉल ऑफ चाइना।

इस दीवार को चीन में इसलिए बनाया गया था क्योंकि उस समय जान-माल की सुरक्षा करने के लिए कोई पर्याप्त सुविधा नहीं होती थी। हर समय डाकुओं और चोरों का डर बना रहता था। इसी वजह से लोग अपने घरों को ऊंचा बनाते थे और शहरों के आस-पास चाहरदीवारी बनाकर उसे घेरा करते थे।

उस समय क्रूर और अत्याचारी लोग समय-समय पर चीन पर उत्तर-पूर्व और दक्षिण-पश्चिम से हमला किया करते थे। ये लोग चीन में आकर लूट-पाट किया करते थे। इन्हीं आक्रमणकारियों से परेशान होकर चीन के लोगों ने अपनी सुरक्षा के लिए इस ऊंची और मजबूत दीवार का निर्माण किया था। अब हम आपको चीन की दीवार से जुड़े कुछ तथ्य बताते हैं जिनके बारे में आपको कम ही पता होगा।

1. चीन की दीवार का निर्माण 204 साल पहले शुरू हुआ था। इसकी लंबाई 1500 किलोमीटर है, इसकी नींव 15-25 फुट चौड़ी रखी गई थी लेकिन ऊपर आकर यह केवल 12 फुट रह गई थी।

2. इस दीवार में 200-200 गज की दूरी पर 40 फुट ऊंची मीनारें बनाई गई हैं। अलग-अलग ऊंचाई रखने का कारण यही था कि दीवार कहीं पर ऊंची तो कहीं पर नीची घाटियों से होकर गुजरती है। कहीं कहीं पर इस दीवार की ऊंचाई 35 फुट तक की है।

3. इस दीवार का निर्माण एक साथ नहीं बल्कि थोड़ा थोड़ा करके किया गया था।

4. तिब्बत और तुर्किस्तान की सीमा पर दीवार को खासतौर से मजबूत बनाया गया था क्योंकि यहां से ज्यादा शत्रु हमला किया करते थे।

5. दीवार पर कई जगहों पर दर्रे और खास दरवाजे बनाए गए हैं जहां पर उस समय सेना को तैनात किया जाता था। यह व्यवस्था आज भी कायम है।

6. इस दीवार को 25-30 लाख मजदूरों ने बनाया था। उन मजदूरों से कठिन परिश्रम करवाया जाता था। जो मजदूर ऐसा नहीं करते थे उन्हें इसमें ही दफना दिया जाता था। इसी वजह से दीवार को दुनिया का सबसे लंबा कब्रिस्तान भी कहा जाता है।

7. चीन के लोग इस दीवार को ‘वान ली छांग छंग’ कहते हैं जिसका मतलब होता है चीन की विशाल दीवार। इसमें इस्तेमाल किए गए पत्थरों को जोड़ने के लिए चावल के आटे का प्रयोग किया गया था। यह दीवार अतंरिक्ष से भी दिखाई देती है।

8. चीन की दीवार की चौड़ाई इतनी ज्यादा है कि इसपर एक साथ पांच घोड़े अगल-बगल साथ चल सकते हैं। वहीं दस लोग भी एक साथ पैदल चल सकते हैं।

9. चीन को उत्तरी दिशा से हमले का डर सताता था जिसकी वजह से उसने इस दीवार को बनाया था लेकिन बहुत से लोगों ने इसे तोड़कर चीन पर हमला किया था। जिनमें से एक नाम है चंगेज खान का। खान ने 1211 में इस दीवार को तोड़कर चीन में प्रवेश किया था।

10. इस दीवार पर निगरानी रखने के लिए कई जगहों पर मीनारें बनाई गई थीं ताकि दूर से आते हुए दुश्मन का पता पहले ही चल सके।

“मेक्सिको देश से जुड़े कुछ रोचक तथ्य”
“भारत का सबसे खतरनाक राज्य है नागालैंड, जानिए क्यों”
“विज्ञान से जुड़ी कुछ हैरान कर देने वाली जानकारियां”