CID और CBI में क्या अंतर है?

मई 31, 2018

हो सकता है कि आप CID और CBI को एक ही एजेंसी समझते हों या फिर इनके बीच के अंतर को अच्छे से समझना अभी आपके लिए बाकी हो। ऐसे में बेहतर होगा कि आज हम इन दोनों एजेंसीज के बारे में बात करें और जाने कि इनके बीच क्या अंतर है ताकि CID और CBI की भूमिका हमारे सामने स्पष्ट हो सके। तो चलिए, आज जानते हैं इन दोनों जांच एजेंसियों के बारे में –

CID (Crime Investigation Department) – CID एक प्रदेश में पुलिस का जांच और खुफिया विभाग होता है जिसे हत्या, दंगे, किडनैपिंग और चोरी जैसी वारदातों की जांच का काम दिया जाता है। CID  की स्थापना पुलिस आयोग की सिफारिश पर ब्रिटिश सरकार ने साल 1902 में की। ये जांच एजेंसी राज्य के अधीन रहकर काम करती है और राज्य सरकार के आदेश पर काम करती है। कभी-कभी इस एजेंसी को जांच के आदेश उस राज्य के हाईकोर्ट द्वारा भी सौंपा जा सकता है। पुलिस कर्मचारियों को इस एजेंसी में शामिल करने से पहले विशेष ट्रेनिंग दी जाती है।

CBI (Central Bureau of Investigation) – CBI या ‘केंद्रीय जांच ब्यूरो’ भारत में केंद्र सरकार की एक ऐसी एजेंसी है जो राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले क्राइम जैसे हत्या, भ्रष्टाचार और घोटालों से जुड़े मामलों की जांच करती है। इसके अलावा भारत सरकार की ओर से राष्ट्रीय हितों से जुड़े अपराधों की जांच का अधिकार भी इस एजेंसी के पास होता है। इसकी स्थापना 1941 में की गयी और अप्रैल 1963 में इसे ‘केंद्रीय जाँच ब्यूरो’ नाम दिया गया। इसका मुख्यालय नयी दिल्ली में है। भारत सरकार द्वारा किसी राज्य सरकार की सहमति से उस राज्य से जुड़े मामलों की जांच का आदेश भी CBI को दिया जा सकता है।

आइये, अब जानते हैं CID और CBI के बीच का अंतर

  1. CID को राज्य सरकार और हाईकोर्ट द्वारा मामलों की जांच के आदेश दिए जाते हैं जबकि CBI को केंद्र सरकार, हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट द्वारा जांच के आदेश मिलते हैं।
  2. CID राज्य में घटित होने वाले अपराधों की जांच करती है जबकि CBI नेशनल और इंटरनेशनल लेवल के क्राइम की जांच करती है।
  3. CID के ऑपरेशन का क्षेत्र केवल एक प्रदेश तक सीमित है जबकि CBI के ऑपरेशन का क्षेत्र पूरा देश और विदेश है।
  4. CID को ब्रिटिश सरकार ने 1902 में स्थापित किया जबकि CBI को 1941 में विशेष पुलिस प्रतिष्ठान के रूप में स्थापित किया गया।
  5. CID में भर्ती होने के लिए राज्य सरकार द्वारा आयोजित होने वाली पुलिस परीक्षा को पास करके अपराध विज्ञान की परीक्षा में पास होना जरुरी होता है जबकि CBI में शामिल होने के लिए SSC बोर्ड द्वारा आयोजित होने वाली परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है।

दोस्तों, अब आपको CID और CBI के बीच का अंतर जरूर स्पष्ट हो गया होगा। उम्मीद है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

सेविंग अकाउंट और करेंट अकाउंट में क्या अंतर होता है?

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें