सिगरेट पीना छोड़ने से आपको होते हैं ये बड़े फायदे

अगस्त 28, 2017

सिगरेट पीना स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक है, इस बात से कोई अंजान नहीं है। वास्तव में निकोटिन एक ऐसी चीज है जिसकी लत लगने पर इससे छुटकारा पानी बहुत मुश्किल हो जाता है। कई लोग सिगरेट पीने से होने वाले नुकसानों को जानते हुए भी इस बुरी लत से छुटकारा नहीं पाना चाहते हैं। जिसका खामियाजा उन्हें, कैंसर, फेफड़ों का कैंसर और टीबी जैसी खतरनाक बीमारियों के रूप में भुगतना पड़ता है। वास्तव में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो सिगरेट पीना छोड़ना चाहते हैं लेकिन उन्हें कोई सही तरीका नहीं मिल पाता है। यही वजह है कि अधिकतर लोग एक बार सिगरेट पीना छोड़ने के कुछ दिनों बाद फिर पीना शुरू कर देते हैं। आपको बता दें कि सिगरेट एक ऐसी चीज है, जिसे पीने से पीने वाली की जान को खतरा तो है ही, लेकिन उसका धुआं लेने वाले 10 फीसदी लोगों को जान का खतरा होता है।

शोधकर्ताओं के अनुसार सिगरेट के धुएं में 200 प्रकार के तत्व होते हैं, जो आपको बहुत बीमार करने के लिए काफी हैं। लेकिन सच्चाई यह है कि जब एक बार आप सिगरेट पीना छोड़ देते हैं, तो इससे आपके स्वास्थ्य दोबारा सही हो सकता है और आप पहले की तरह नॉर्मल लाइफ जी सकते हैं। हम आपको सिगरेट पीना छोड़ने से होने वाले कुछ फायदे बता रहे हैं-

ब्लड प्रेशर नॉर्मल हो जाता है – कई अध्ययनों में इस बात का दावा किया गया है कि सिगरेट पीना छोड़ने के 20 मिनट बाद ही ब्लड प्रेशर और हार्ट बीट्स नॉर्मल हो जाते हैं। दरअसल सिगरेट में निकोटिन होता है, जो नर्वस सिस्टम को प्रभावित करता है और सिगरेट पीने से यह दोनों बढ़ जाते हैं।

शरीर के लिए ऑक्सीजन लेवल में सुधार – सिगरेट पीने से आपके शरीर में कार्बन मोनोऑक्साइड जमा हो जाता है, जिससे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई ब्लॉक हो जाती है। लेकिन सिगरेट पीना छोड़ने से 12 घंटे के अंदर ही खतरनाक कार्बन मोनोऑक्साइड का लेवल कम हो जाता है, जिससे आपके शरीर को सही तरह ऑक्सीजन मिलने लगता है।

सूंघने की क्षमता में होता है सुधार – रोजाना सिगरेट पीने से आपके मुंह का टेस्ट बिगड़ जाता है और आपको केवल सिगरेट की ही स्मेल आती रहती है। ऐसा कहा जाता है कि सिगरेट पीना छोड़ने के 48 घंटे के भीतर आपके स्वाद और सूंघने के क्षमता में सुधार होने लगता है।

श्वसनतंत्र के कामकाज में सुधार – सिगरेट पीने वालों को फेफड़ों की अधिक समस्याएं होती हैं। इससे उनका श्वास तंत्र भी प्रभावित होता है। श्वास तंत्र के कामकाज में सुधार लाने के लिए आपको सिगरेट से तौबा कर लेनी चाहिए। सिगरेट पीना छोड़ने के 3 दिन बाद ही अपर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट नॉर्मल होने लगता है और आपको सांस लेने में आसानी होने लगती है।

फेफड़ों की सफाई और कामकाज में सुधार – सिगरेट पीना छोड़ने से कुछ महीनों बाद ही बॉडी में ब्लड फ्लो बढ़ जाता है। इतना ही नहीं फेफड़ों द्वारा ऑक्सीजन सोखने के क्षमता भी 30 प्रतिशत तक बढ़ जाती है। इसके अलावा बाहरी धूल और कणों को रोकने के लिए फेफड़ों मकी सतह पर मौजूद रोएं फिर से विकसित होने लगते हैं।

हार्ट अटैक का खतरा कम होता है – शोधकर्ताओं के अनुसार, स्मोकिंग करने वाले लोगों का हार्ट अटैक का खतरा अधिक होता है। इसलिए सिगरेट पीना छोड़ने वाले लोगों को एक साल के भीतर हार्ट अटैक का खतरा 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है। इतना ही नहीं दस साल बाद सिगरेट पीने वालों की तुलना में लंग्स कैंसर का खतरा भी आधा हो जाता है। सबसे बड़ी बात कि पंद्रह साल के बाद दिल से जुड़े रोगों का खतरा भी सामान्य लोगों जितना रह जाता है।

“सिगरेट छोड़ना चाहते हैं तो ये आसान तरीके अपनाएं”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें