डालडा घी किस चीज से बनता है?

आइये जानते हैं डालडा घी किस चीज से बनता है। हमारे देश में घी का महत्व इतना ज्यादा है कि जब तक पकवानों में से घी की सुगंध ना आये तब तक उस व्यंजन के स्वाद को कम ही आँका जाता है।

स्वाद, सेहत, उपचार और भक्ति जैसे सभी जरुरी क्षेत्रों में घी का महत्व बहुत ज्यादा रहा है लेकिन घी के भी 2 प्रकार हैं- देशी घी और डालडा घी। देशी घी जहाँ दूध से बना होता है वहीं डालडा घी या वनस्पति घी वनस्पति तेल से बनता है।

डालडा घी किस चीज से बनता है? 1

आजकल भले ही डालडा घी का उपयोग घरों में काफी कम हो गया है लेकिन एक समय ऐसा था जब बचत और कम लागत को ध्यान में रखते हुए देशी घी की जगह डालडा घी का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता था।

ऐसे में ये जानना बेहतर होगा की डालडा घी बनता किससे है। तो चलिए, आज जानते हैं डालडा घी के बारे में।

डालडा घी किस चीज से बनता है?

डालडा असल में वनस्पति तेल बनाने वाली एक कंपनी का नाम है, जो भारत सहित पाकिस्तान और दक्षिण एशिया में सबसे लम्बे समय तक चले सफल ब्रांड में से एक रही है।

अब जानते हैं वनस्पति घी (डालडा) बनाने की विधि – वनस्पति घी वनस्पति तेल से बनता है। तेल को ठोस बनाने के लिए हाइड्रोजनीकृत किया जाता है।

शुद्ध देशी घी जैसी बनावट और स्वाद बनाने के लिए हाइड्रोजनीकरण किया जाता है जिससे ट्रांस फैटी एसिड्स बढ़ जाते हैं जो एलडीएल कोलेस्ट्रोल यानी ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा और हार्ट प्रॉब्लम्स को बढ़ाने का काम करते हैं।

वनस्पति घी बनाने के लिए एक या एक से ज्यादा वनस्पति तेल आपस में मिलाये जाते हैं। इस तेल या तेलों के मिश्रण को 70 डिग्री सेल्सियस पर गर्म किया जाता है और लगातार मिलाया जाता है।

वनस्पति घी बनाने के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले तेल हैं- सोयाबीन का तेल, ताड़ का तेल, कपास के बीज का तेल और सरसों का तेल।

इस तरह निर्मित वनस्पति घी कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है और इसमें कैलोरी की मात्रा भी देशी घी से कहीं ज्यादा होती है।

ऐसे में वनस्पति घी का इस्तेमाल करने से बेहतर यही होगा कि देशी घी के इस्तेमाल पर जोर दिया जाये।

उम्मीद है जागरूक पर डालडा घी किस चीज से बनता है कि ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आपके लिए फायदेमंद भी साबित होगी।

दिमाग में नकारात्मक विचार क्यों आते हैं?

जागरूक यूट्यूब चैनल