डिटॉक्स वाटर क्या होता है?

डिटॉक्स का अर्थ है – शरीर और दिमाग को स्वस्थ और तरोताजा बनाये रखने के लिए, शरीर से ऐसे तत्वों को बाहर निकालना जो नुकसानदायक होते हैं। जंक फूड, स्ट्रेस और अनिद्रा से भरी लाइफस्टाइल के चलते शरीर में विषैले पदार्थ बढ़ते रहते हैं और शारीरिक और मानसिक पोषण में कमी आने लगती है। ऐसे में डिटॉक्स ड्रिंक्स काफी राहत दिला सकती है इसलिए आज जानते हैं डिटॉक्स वाटर क्या होता है।

पानी के साथ कई पौष्टिक फल-सब्जियां मिलकर पानी को डिटॉक्स वाटर बनाती हैं जिसका सेवन करके, शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकालकर बॉडी को डिटॉक्सीफाई किया जाता है, साथ ही वजन कम करने में भी सहायता मिलती है।

डिटॉक्स ड्रिंक्स बनाना बहुत ही आसान है। आइये, जानते हैं कुछ डिटॉक्स ड्रिंक्स रेसिपीज के बारे में-

नींबू और अदरक वाला डिटॉक्स वाटर – पानी में आधा नींबू और आधा इंच अदरक को कूटकर मिलाने से एक बेहतरीन डिटॉक्स ड्रिंक बनता है जिसका सेवन सुबह के समय करना चाहिए।

लेमन डिटॉक्स वाटर – विटामिन-सी से भरपूर नींबू में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाए जाते हैं और फ्री-रेडिकल्स से शरीर को मुक्त करके बॉडी को डिटॉक्स करना बहुत आसान होता है। इसके लिए रोज सुबह एक बड़े गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़ कर पीने से शरीर को तरोताजा रखा जा सकता है।

शहद, नींबू और गर्म पानी से बना डिटॉक्स वाटर – शरीर को डिटॉक्स करने का ये तरीका काफी प्रभावी है। इसे बनाने के लिए गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद और नींबू की दस-पंद्रह बून्द डालिये और अच्छे से मिलाकर सुबह खाली पेट इसे पीजिये। ऐसा करने से टॉक्सिन्स शरीर से बाहर निकल जाएंगे।

संतरा, नींबू और अदरक से बना डिटॉक्स वाटर – इस तरह का डिटॉक्स वाटर बनाने के लिए संतरा, नींबू और अदरक के लम्बे स्लाइस करके पानी में आधे घंटे के लिए डाल दें। इसमें मौजूद संतरा रक्त संचार को बढ़ाएगा, नींबू पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के साथ सांसों की बदबू भी दूर करेगा और अदरक प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाएगी।

आप भी बॉडी को डिटॉक्स करने के लिए ऐसे डिटॉक्स ड्रिंक्स को आज़माकर जरूर देखिये।

“आँख का वजन कितना होता है?”